एशिया कप टी-20 टूर्नामेंट के लिए भारतीय टीम की घोषणा, रोहित शर्मा को टीम की कमान

0
194
एशिया कप टी-20 टूर्नामेंट के लिए भारतीय टीम की घोषणा, रोहित शर्मा को टीम की कमान

भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) ने एशिया कप टी-20 टूर्नामेंट के लिए टीम की घोषणा कर दी है। भारतीय टीम में विराट कोहली और केएल राहुल की वापसी हुई है। रोहित शर्मा ही टीम की कमान संभालेंगे। केएल राहुल टीम के उपकप्तान होंगे। इसके अलावा दीपक हुड्डा, अर्शदीप सिंह और आवेश खान टीम में अपनी जगह बचाने में कामयाब रहे।

बीसीसीआई ने कहा कि जसप्रीत बुमराह और हर्षल पटेल चोट की वजह से चयन के लिए उपलब्ध नहीं थे। इस वजह से उन्हें टीम में शामिल नहीं किया गया है। भारत ने 15 खिलाड़ियों के साथ तीन खिलाड़ियों को स्टैंडबाय पर रहने भी कहा है। इनमें श्रेयस अय्यर, दीपक चाहर और अक्षर पटेल शामिल हैं।
एशिया कप के लिए भारतीय टीम: रोहित शर्मा (कप्तान), केएल राहुल (उप-कप्तान), विराट कोहली, सूर्यकुमार यादव, ऋषभ पंत (विकेटकीपर), दीपक हुड्डा, दिनेश कार्तिक (विकेटकीपर), हार्दिक पांड्या, रवींद्र जडेजा, रविचंद्रन अश्विन, युजवेंद्र चहल, रवि बिश्नोई, भुवनेश्वर कुमार, अर्शदीप सिंह, और आवेश खान।

स्टैंडबाय: श्रेयस अय्यर, दीपक चाहर और अक्षर पटेल।

विराट कोहली 17 जुलाई को इंग्लैंड के खिलाफ सीरीज समाप्त होने के बाद छुट्टी पर चले गए थे। उनकी वापसी हुई है। कोहली वेस्टइंडीज के खिलाफ  वनडे और टी20 सीरीज में नहीं खेले थे। उन्हें जिम्बाब्वे के खिलाफ वनडे सीरीज में भी आराम दिया गया है। पिछले साल टी20 वर्ल्ड कप के बाद विराट सिर्फ चार टी20 मैच ही खेल पाए हैं। इस दौरान वह भारत के 19 मैचों में नहीं खेले। इन चार मैचों में उन्होंने 20 की औसत और 128.57 की स्ट्राइक रेट 81 रन बनाए।

वेस्टइंडीज दौरे पर गए श्रेयस अय्यर, अक्षर पटेल, ईशान किशन, संजू सैमसन, कुलदीप यादव और हर्षल पटेल को 15 सदस्यीय टीम में नहीं रखा गया। इनमें से हर्षल चोटिल हैं। अय्यर और अक्षर को स्टैंडबाई के रूप में रखा गया है। सैमसन, किशन और कुलदीप को बाहर कर दिया गया।

इस साल ऑस्ट्रेलिया में होने वाले टी20 वर्ल्ड कप से पहले टीम इंडिया की तैयारियों के लिए यह एक बड़ी सीरीज है। इसके बाद भारतीय टीम ऑस्ट्रेलिया और दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ घरेलू मैदान पर सीरीज खेलेगी।
27 अगस्त से शुरू हो रहे इस टूर्नामेंट में भारत का पहला मुकाबला पाकिस्तान से है। इन दोनों टीमों को ग्रुप ए में रखा गया है। ग्रुप ए में कुल तीन टीमें हैं, भारत और पाकिस्तान के अलावा क्लालिफायर राउंड में जीतने वाली टीम इस ग्रुप में जगह बनाएगी। श्रीलंका, अफगानिस्तान और बांग्लादेश को ग्रुप बी में रखा गया है। इस टूर्नामेंट में 27 अगस्त से 11 सितंबर के बीच कुल 13 मैच खेले जाएंगे।
इस बार एशिया कप का आयोजन यूएई में किया जाएगा। पहले श्रीलंका को इस टूर्नामेंट की मेजबानी मिली थी, लेकिन वहां के हालात खराब होने की वजह से अब यूएई को इस टूर्नामेंट की मेजबानी मिली है। भारत और पाकिस्तान की टीमें एक दूसरे के यहां नहीं खेलना चाहती हैं। ऐसे में यूएई के अलावा श्रीलंका और बांग्लादेश ही मेजबानी के दावेदार थे और श्रीलंका को इस टूर्नामेंट की मेजबानी दी गई थी। श्रीलंका से यह टूर्नामेंट छिनने के बाद यूएई को इसकी मेजबानी मिली है।
एशिया कप इस बार टी-20 प्रारूप में खेला जाएगा। 1984 में शुरू हुआ यह टूर्नामेंट 2014 तक 50 ओवर के फॉर्मेट में खेला गया। फिर 2016 में टी-20 विश्व कप की वजह से इसे टी-20 फॉर्मेट में खेला गया था। तब महेंद्र सिंह धोनी के नेतृत्व में भारतीय टीम ही चैंपियन बनी थी। 2018 में एक बार फिर इस टूर्नामेंट को वनडे फॉर्मेट में खेला गया और रोहित शर्मा की कप्तानी में टीम इंडिया ही चैंपियन बनी थी। अब इस साल टी-20 विश्व कप की वजह से एक बार फिर से यह टूर्नामेंट टी-20 फॉर्मेट में खेला जाएगा।
भारतीय टीम अब तक टूर्नामेंट के 13 संस्करणों में हिस्सा ले चुकी है और सबसे ज्यादा सात बार चैंपियन बनी है। इसके अलावा टीम तीन बार रनर-अप भी रही। दूसरे स्थान पर श्रीलंका है। श्रीलंकाई टीम पांच बार चैंपियन बनी है और छह बार रनर अप रही है। पाकिस्तान की टीम ने दो बार यह खिताब जीता है और दो बार वह रनर अप रही है। अगले साल फिर से यह टूर्नामेंट वनडे फॉर्मेट में लौट आएगा।

Leave a reply

Please enter your comment!
Please enter your name here