15.6 C
Dehradun
Monday, November 29, 2021
Homeहमारा उत्तराखण्डभाजपा सरकार ने घसियारी शब्द का प्रयोग कर उत्तराखंड की नारी शक्ति...

भाजपा सरकार ने घसियारी शब्द का प्रयोग कर उत्तराखंड की नारी शक्ति का किया अपमानः रावत

उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने कहा कि भाजपा सरकार ने प्रदेश की नारियों के लिए घसियारी शब्द का प्रयोग कर उत्तराखंड की नारी शक्ति का अपमान किया है।

भाजपा और कांग्रेस सरकार में विकास के मसले पर उन्होंने कहा कि उन्हें केंद्रीय गृह मंत्री के साथ इस मुद्दे पर बहस की चुनौती मंजूर है। कांग्रेस ने जो काम किए हैं उसके आधार पर वह केंद्रीय गृह मंत्री पर भारी पड़ेंगे।

कांग्रेस प्रदेश मुख्यालय में आज मीडिया से बातचीत करते हुए पूर्व सीएम हरीश रावत ने कहा कि हमारी बेटी और बहनें अपने घर के बहुत सारे काम करती हैं। खेतों में काम करती हैं, जानवरों के लिए घास लेकर आती हैं। प्रदेश की बेटी और बहनों ने कई ऊंचाइयों को छुआ है। जो प्रदेश का गौरव बढ़ा रही हैं, लेकिन सरकार ने घसियारी शब्द का इस्तेमाल कर उनका अपमान किया।

श्री रावत ने डेनिस और जुम्मे की नमाज के सवाल पर केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह पर पलटवार किया है। उन्होंने कहा कि जुम्मे की नमाज की छुट्टी की अधिसूचना की जांच के लिए अपनी सारी एजेंसियां लगा लें। जबकि डेनिस इन दिनों उत्तराखंड और दिल्ली में बिक रही है।

बोले कि एक पूर्व सैनिक का तो यह भी कहना है कि भाजपा सरकार में यह सेना की कैंटीन में भी उपलब्ध होने लगी है। पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि भाजपा यह बताए कि कांग्रेस सरकार में शराब यदि जहर थी तो इसे पीकर कितनों की मौत हुई है। जबकि वह बता सकते हैं कि भाजपा सरकार में भगवानपुर में शराब पीकर कितनों की मौत हुई, काशीपुर में कितने मरे, चंडीगढ़ से उत्तराखंड आ रही शराब से कितनों की मौत हुई है।

पूर्व सीएम ने कहा कि यदि भाजपा सरकार प्रदेश में बिक रही नकली शराब के लिए माफी नहीं मांग सकती तो कम से कम इससे मारे गए लोगों को मुआवजा तो दे सकती है। उन्होंने स्टिंग के सवाल पर कहा कि भाजपा के भी स्टिंग हुए हैं। इसका आइडिया देने वाले भी भाजपा के हैं।

प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने कहा कि केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के कार्यक्रम में प्रदेश का गौरव हमारी बेटी, बहनों को जिस तरह से घसियारी बताकर संबोधित किया गया। वह उत्तराखंड की नारी शक्ति का अपमान है।

कहा कि केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने भी इस शब्द पर अपनी मोहर लगा दी। पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि वह सरकार के इस कदम की निंदा करते हैं। जनमानस एवं प्रबुद्धजनों से भी प्रार्थना करते हैं कि इसका विरोध करें। सभी राजनीतिक दलों से भी प्रार्थना है कि आगे आकर इसकी निंदा करें।

केंद्रीय गृह मंत्री द्वारा उन्हें बहस के लिए चुनौती दिए जाने के सवाल पर पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने कहा कि यह उनके लिए सौभाग्य की बात है। किसी भी स्थान पर वह बहस के लिए तैयार हैं। उन्होंने कहा कि हालांकि पद की गरिमा के हिसाब से वह केंद्रीय गृह मंत्री से छोटे हैं, लेकिन कांग्रेस ने जो काम किए हैं उसके आधार पर वह केंद्रीय गृह मंत्री पर भारी पड़ेंगे।

प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने कहा कि केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के झूठ परोस रहे हैं। देहरादून में उनके भाषण ने भाजपा एवं प्रदेश की जनता को निराश कर दिया है। केंद्रीय गृह मंत्री उनकी ओर रंग उछाल रहे हैं, लेकिन उन्होंने भी कह दिया कि होली है।

पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने कहा कि केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह को वह इसके लिए धन्यवाद देते हैं कि प्रदेश सरकार ने कोई काम नहीं किए फिर भी वह सरकार को प्रशंसाओं का चेक दे गए। लेकिन यह बताकर कि संभावित आपदा की केंद्र सरकार पहले ही सूचना दे चुका था, वह यह बता गए कि प्रदेश में आपदा से जो मौंते हुई हैं वे केंद्र सरकार के नहीं, बल्कि राज्य सरकार के खाते में है।

RELATED ARTICLES

Leave a reply

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
- Advertisment -
- Advertisment -
- Advertisment -
- Advertisment -
- Advertisment -

Most Popular

- Advertisment -

Recent Comments

error: Content is protected !!