Home हमारा उत्तराखण्ड देश में लाखों की ठगी करने वाला नाईजीरियन मास्टरमाइंड गिरफ्तार

देश में लाखों की ठगी करने वाला नाईजीरियन मास्टरमाइंड गिरफ्तार

0
26

एसटीएफ / साइबर क्राइम उत्तराखण्ड द्वारा कस्टम डिपार्टमैन्ट व क्राइम ब्रांच के नाम से धोखाधड़ी करने वाले गिरोह के मास्टमाईंड को दिल्ली से किया गिरफ्तार

विदेश से डॉलर तथा गिफ्ट भेजने के नाम पर ठगी करने वाले गिरोह का विदेशी (नाईजीरियन) नागरिक दिल्ली से गिरफ्तार

पुलिस महानिदेशक उत्तराखण्ड अभिनव कुमार के दिशा निर्देशन में साईबर धोखाधड़ी करने वालों के विरुद्ध कठोर कार्यवाही करते हुये साईबर पीड़ितो को न्याय दिलाया जा रहा है।

वर्तमान में साइबर अपराधी आम जनता की गाढ़ी कमाई हड़पने हेतु अपराध के नये-नये तरीके अपनाकर धोखाधड़ी कर रहे है।

इसी क्रम में कुछ दिवस पूर्व साइबर क्राईम पुलिस स्टेशन उत्तराखण्ड देहरादून निवासी एक महिला द्वारा सूचना दर्ज कराई कि अज्ञात साइबर ठगो द्वारा वादिनी से फेसबुक / व्हाटसअप आदि के माध्यम से संपर्क कर व स्वंय को Dr- William Ryker USA में Gynaecologist डॉक्टर बताकर वादिनी को विदेश से 25 हजार US Dollar, गिफ्ट आईटम लेडिज सामान ब्रेसलेट ज्वैलरी और मोबाईल फोन, वॉच पर्स और कई अन्य कीमती सामान पार्सल से भेजने का प्रलोभन देकर व वादिनी को कस्टम डिमार्टमेन्ट दिल्ली से पार्सल आने का लालच देकर, बैक खाते में US Dollar को इण्डियन करेन्सी में प्राप्त व कनवर्ट करने के नाम पर एवं विभिन्न कर / टैक्स के नाम पर वादिनी से कुल (13,61,700/- रु0) धोखाधडी से भिन्न-2 बैक खातो में स्थानान्तरित करवाये गये । इस शिकायत के आधार पर साइबर क्राईम पुलिस स्टेशन देहरादून पर मु0अ0सं0 24/2024 धारा 420,120 बी भादवि व 66(डी) आईटी एक्ट बनाम अज्ञात का अभियोग पंजीकृत किया गया। इस प्रकरण को गम्भीरता से लेते हुये अनावरण हेतु साईबर क्राईम पुलिस स्टेशन पर पुलिस उपाधीक्षक श्री अंकुश मिश्रा के नेतृत्व में एक टीम का गठन किया गया जिसकी विवेचना साइबर थाने के प्रभारी निरीक्षक त्रिभुवन रौतेला के सुपुर्द की गयी।

वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक, एस०टी०एफ० श्री आयुष अग्रवाल द्वारा इस घटना के अनावरण करने हेतु पुलिस उपाधीक्षक श्री अकुंश मिश्रा के नेतृत्व में एक टीम गठित कर अभियोग में अभियुक्तों के विरुद्ध ठोस कार्यवाही करने के दिशा-निर्देश निर्गत किये गये। गठित टीम द्वारा घटना के शीघ्र अनावरण हेतु त्वरित कार्यवाही करते हुए घटना में प्रयुक्त मोबाईल नम्बर व सम्बन्धित खातों आदि की जानकारी व तकनीकी विश्लेषण किया गया तो उक्त अपराध में संलिप्त अपराधियों का दिल्ली से सम्बन्ध होना पाया गया। जिसमें टीम को सम्बन्धित स्थानों को रवाना किया गया। पुलिस टीम द्वारा अथक मेहनत एवं प्रयास तथा तकनीकी विश्लेषण कर साक्ष्य एकत्रित करते हुये अभियोग में संलिप्त विदेशी (नाईजीरियन) अभियुक्त को मोहन गार्डन दिल्ली से गिरफ्तार किया गया, जिसके कब्जे से 04 मोबाईल फोन, 01 लैपटॉपमय बैग व चार्जर, 02 पासपोर्ट बरामद हुये।

*अपराध का तरीका –*
पूछताछ में अभियुक्त द्वारा बताया गया कि उनके द्वारा Gynaecologist डॉक्टर बनकर भोले भाले लोगों से सोशल प्लैटफॉर्म के माध्यम से दोस्ती कर तथा विश्वास में लेकर उनके लिए विदेशी मुद्रा तथा विदेश से गिफ्ट भेजने के नाम पर धोखाधड़ी की जाती है, जिसके लिये उनके द्वारा स्वयं को विदेशी नागरिक बनकर विदेश से धनराशि व विदेशी गिफ्ट भेजने का झांसा देकर भिन्न भिन्न एकाउन्ट में धनराशि जमा कराकर ठगी की गई है। उक्त अपराधियों द्वारा उस विदेशी मुद्रा तथा गिफ्ट्स में विभिन्न टैक्स व कर के नाम पर धोखाधड़ी की जाती है।

*बरामदगी-*
1. 04 मोबाईल फोन
2. 01 लैपटॉप मय बैग व चार्जर
3. 02 पासपोर्ट

*पुलिस टीम-*
1- निरीक्षक त्रिभुवन रौतेला
2- उ0नि0 राहुल कापड़ी
3- उ0नि0 कुलदीप टम्टा
4- म0उ0नि0 प्रतिभा
5- कानि0 हरेन्द्र भण्डारी

वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक एस0टी0एफ0 उत्तराखण्ड श्री आयुष अग्रवाल महोदय द्वारा जनता से अपील की है कि वे किसी भी प्रकार के लोक लुभावने अवसरों/फर्जी साइट/धनराशि दोगुना करने व विदेश से गिफ्ट प्राप्त करने वाले अंनजान अवसरो के प्रलोभन में न आयें । किसी भी प्रकार के ऑनलाईन कम्पनी की फ्रैन्चाईजी लेने, यात्रा टिकट आदि को बुक कराने से पूर्व उक्त साईट का स्थानीय बैंक, सम्बन्धित कम्पनी आदि से पूर्ण वैरीफिकेशन व भली-भाँति जांच पड़ताल अवश्य करा लें तथा गूगल से किसी भी कस्टमर केयर का नम्बर सर्च न करें तथा शक होने पर तत्काल निकटतम पुलिस स्टेशन या साइबर क्राईम पुलिस स्टेशन से सम्पर्क करें । वित्तीय साईबर अपराध घटित होने पर तुरन्त 1930 नम्बर पर सम्पर्क करें । इसके अतिरिक्त गिरफ्तारी के साथ-साथ साईबर पुलिस द्वारा जन जागरुकता हेतु अभियान के अन्तर्गत हैलीसेवा वीडियो साइबर पेज पर प्रेषित किया गया है। जिसको वर्तमान समय तक काफी लोगो द्वारा देख कर शेयर किया गया है।

No comments

Leave a reply

Please enter your comment!
Please enter your name here

error: Content is protected !!