38.1 C
Dehradun
Saturday, May 28, 2022
Homeहमारा उत्तराखण्डहरिद्वारसीएम धामी ने किया रुड़की चिकित्सालय में हंस फाउंडेशन द्वारा स्थापित डायलिसिस...

सीएम धामी ने किया रुड़की चिकित्सालय में हंस फाउंडेशन द्वारा स्थापित डायलिसिस सेंटर का लोकार्पण

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने गुरुवार को हरिद्वार स्थित ऋषिकुल आयुर्वेदिक विश्वविद्यालय में विश्व स्वास्थ्य दिवस के अवसर पर आयोजित कार्यक्रम में प्रतिभाग किया। इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने रक्तदान शिविर का उद्घाटन, रुड़की चिकित्सालय में हंस फाउंडेशन द्वारा स्थापित डायलिसिस सेंटर का लोकार्पण किया । इसके साथ ही मुख्यमंत्री ने जागरूकता रथ का झंडी दिखाकर फ्लैग ऑफ भी किया।

कार्यक्रम में मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने विश्व स्वास्थ्य दिवस की बधाई देते हुए कहा कि आज के दिन हम सभी को संकल्प लेना चाहिए कि हम स्वयं को स्वस्थ रखने के लिए क्या कर सकते हैं, उत्तम स्वास्थ्य के प्रति सभी को जागरूक करना होगा, इस दिन को हमें अपने जीवन में उतारना होगा तभी यह दिवस सार्थक सिद्ध होगा। स्वास्थ्य ही हमारा सबसे बड़ा धन है, हमारे देश में चिकित्सक को भगवान का दूसरा रूप माना जाता है।


उन्होंने कहा कि आज स्वस्थ जीवन पद्धति के क्षेत्र में कई रिसर्च की जा रही है, परंतु हमारे ऋषि-मुनियों ने हजारों साल पहले ही स्वस्थ जीवन पद्धति के बारे में बताया था। हमारी भारतीय संस्कारों की जीवन पद्धति में सभी का हल है, आज पूरी दुनिया आयुर्वेद की तरफ बढ़ रही है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि हमारी सरकार ने अपने शपथ ग्रहण के तुरंत बाद पहली कैबिनेट बैठक में निर्णय लिया कि न्यायविदों, सेवानिवृत्त जजों, समाज के प्रबुद्ध जनो और अन्य स्टेकहोल्डर्स की एक कमेटी गठित करेगी जो कि उत्तराखंड राज्य के लिए ‘यूनिफॉर्म सिविल कोड’ का ड्राफ्ट तैयार करेगी। इस यूनिफॉर्म सिविल कोड का दायरा सभी नागरिकों के लिये समान क़ानून चाहे वे किसी भी धर्म में विश्वास रखते हों, होगा।


मुख्यमंत्री ने कहा कि ये ‘यूनिफॉर्म सिविल कोड’ संविधान निर्माताओं के सपनों को पूरा करने की दिशा में एक अहम कदम होगा।
मुख्यमंत्री ने कहा कि केंद्र सरकार की योजनाओं को समाज के अंतिम छोर में खड़े व्यक्ति तक पहुंचाना ही हमारा उद्देश्य है। प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के कुशल मार्गदर्शन में विकास की दृष्टि से प्रदेश के आने वाले 5 साल स्वर्णिम वर्ष होंगे। प्रधानमंत्री श्री मोदी ने 21वीं सदी के तीसरे दशक को उत्तराखण्ड का दशक बताया है। राज्य को विकास की दृष्टि से रजत जयन्ती वर्ष में देश के अग्रणी राज्यों में शामिल करने के लिये हम प्रतिबद्ध है। मुख्यमंत्री ने कहा कि हमारी सरकार “विकल्प रहित संकल्प“ के ध्येय वाक्य पर काम कर रही है।

इस अवसर पर रानीपुर विधायक आदेश चौहान, रुड़की विधायक प्रदीप बत्रा, पूर्व विधायक स्वामी यतिस्वरानंद, विश्वविद्यालय के कुलपति प्रोफेसर डॉक्टर सुनील जोशी, जिलाधिकारी हरिद्वार विनय शंकर पांडे सहित अन्य उपस्थित थे।

RELATED ARTICLES

Leave a reply

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
- Advertisment -
- Advertisment -
- Advertisment -

Most Popular

- Advertisment -

Recent Comments

error: Content is protected !!