29.8 C
Dehradun
Saturday, September 25, 2021
Homeहमारा उत्तराखण्डउधमसिंह नगरमुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी पहुंचे खटीमा, कार्यकर्ता बैठक एवं जनमिलन समारोह में...

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी पहुंचे खटीमा, कार्यकर्ता बैठक एवं जनमिलन समारोह में की शिरकत

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने विधानसभा क्षेत्र खटीमा में पहुंचकर कार्यकर्ता बैठक एवं जनमिलन समारोह में शिरकत की। उन्होने लोगों का अभिनन्दन स्वीकार करते हुए धन्यवाद ज्ञापित किया। उन्होने कहा कि आप सबके प्रेम से मुझे जो जिम्मेदारी संगठन ने दी है उसे मै पूरी निष्ठा से निभाउंगा व जो समय प्रदेश की सेवा करने का मुझे मिला है उसमें अधिक से अधिक कार्यों को सम्पन्न किया जायेगा।

उन्होने कहा कि उत्तराखण्ड को एक मॉडल प्रदेश बनाने में सरकार लगातार कार्य कर रही है। उन्होने कहा कि सरकार द्वारा बेरोजगारी, पलायन, रिक्त पदों की भर्ती प्रक्रिया, स्वरोजगार के क्षेत्र में युवाओं व महिलाओं को जोड़ने का कार्य भी किया जा रहा है।

उन्होने कहा कि सरकार द्वारा विभिन्न विभागों में 24 हजार रिक्त पदों पर भर्ती प्रक्रिया प्रारम्भ कर दी गई है एवं सरकारी नौकरी के क्षेत्र में ही नही बल्कि बङे स्तर पर सरकार विभिन्न क्षेत्रों में लाखों लोगों को स्वरोजगार से जोड़ने का भी प्रयास कर रही है, सरकार की मंशा है कि प्रदेश के युवा एवं महिलाऐं रोजगार मांगने वाले नही बल्कि रोजगार देने वाले बने।

जरूरतमन्दों को शिविर में ही ऋण स्वीकृत करें

उन्होने जनता की समस्याओं को सुना व समस्याओं के निस्तारण हेतु सम्बन्धित अधिकारियों को निर्देश दिये। उन्होने कहा कि इस हेतु सम्बन्धित अधिकारियों को निर्देश दिये गये है कि बैंको से मिलने वाला ऋण की प्रक्रिया को सरल करते हुए शिविरों के माध्यम से जरूरतमन्दों को शिविर में ही ऋण स्वीकृत किया जाना सुनिश्चित करें।

उन्होने कहा कि राष्ट्रीय आजीविका मिशन के तहत स्वयं सहायता समूह के माध्यम से माताओं-बहनों द्वारा उत्पादित वस्तुओं को बड़े पैमाने पर बाजार में स्थान दिलाने हेतु सरकार लागातार प्रयास कर रही है ताकि माताऐं-बहने आत्मनिर्भर बन सके। उन्होने कहा कि कोविड-19 के संक्रमण से हुए नुकसान से स्वयं सहायता समूह की महिलाओं को उबारने हेतु 119 करोड़ की सहायता राशि दी जा रही है।

प्रदेश में कोविड काल में प्रतियोगी परीक्षाऐं न होने के कारण सरकार ने युवाओं को सरकारी नौकरी की भर्ती में एक साल आयु की छुट दी है। उन्होने कहा कि लोक सेवा आयोग की तैयारी कर रहे युवाओं को प्री-एग्जाम उत्तीर्ण करने पर आगे तैयारी हेतु 50-50 हजार की सहायता धनराशि सरकार द्वारा दी जायेगी व ऐसे व्यक्ति जिन्होने एमबीबीएस की परीक्षा उत्तीर्ण कर इण्ट्रेशिप कर रहे डॉक्टरों को 17 हजार की धनराशि प्रदान की जायेगी।

मुख्यमंत्री श्री धामी ने कहा कि आगामी 3 वर्षों तक किसी भी मलिन बस्तियों में रहने वाले व्यक्तियों को तब तक नही हटाया जायेगा जब तक उनके आवास हेतु आवश्यक कार्यवाही न हो। उन्होने कहा कि सरकार लगातार आमजन के हित व प्रदेश के चहुमुखी विकास हेतु कार्य करना चाहती है जिसके लिए सम्बन्धित अधिकारियों को निर्देश दिये गये है कि तहसील दिवस/बहुउद्देशीय शिविर के माध्यम से आमजन मानस की समस्याओं का निस्तारण करना सुनिश्चित करें।

उन्होने कहा कि समस्या ब्लॉक स्तर, तहसील स्तर या जनपद स्तर की हो उनका उसी स्तर पर निस्तारण करना सुनिश्चित करें उन्होने कहा कि यदि कोई भी शिकायत अनावश्यक शासन स्तर पर पहुंची तो उसका उत्तरदायी सम्बन्धित अधिकारी की तय की जायेगी। सरकार की नो पेंडेन्शी के तर्ज पर कर रही है।

सरकार द्वारा पर्यटन व सांस्कृतिक के क्षेत्र को उबारने के लिए दो सौ करोड़ की धनराशि अर्थिक सहायता के रूप में दी जायेगी। उन्होने कहा कि आशाओं के हित में भी सरकार कार्य कर रही है व इस रक्षाबन्धन पर्व पर आशा व आगनबाड़ी कार्यकत्रियों को 1-1 हजार रूपये की धनराशि उपहार के रूप में दी जायेगी।

उन्होने कहा कि कोविड-19 महामारी के दौरान जिन बच्चों के अभिभावक/संरक्षक की मृत्यु हुई है उन बच्चों की देखभाल का जिम्मा सरकार ने लिया है जिसके अन्तर्गत 21 वर्ष की आयु तक प्रत्येक बच्चे को प्रतिमाह 3 हजार रूपये की धनराशि दी जायेगी। उन्होने कहा कि अभी तक 23 सौ बच्चों का पंजीकरण हो चुका है जिनको योजना से जोड़ा जा चुका है। उन्होने कहा कि बच्चों की देखभाल मेरे द्वारा मामा के रूप में किया जायेगा।

उन्होने कहा कि सरकार दो बच्चों के जन्म पर महालक्ष्मी योजना के तहत उन माताओं को महालक्ष्मी किट दी जा रही है इसके अन्तर्गत 50 हजार माताओं को इसका लाभ दिया जायेगा। उन्होने कहा कि आज हम देश के प्रधानमंत्री के नेतृत्व में अनेक लड़ाई लड़ रहे है जिसमें लगातार प्रधानमंत्री एक कर्मयोगी, राजश्री पुरूष के रूप में कार्य कर रहे है।

उन्होने कहा कि आज भारत सबसे ज्यादा वैक्सीन लगाने, मुफ्त राशन देने वाला पहला देश है। उन्होने कहा कि उत्तराखण्ड सरकार ने स्वास्थ्य सम्बन्धी 200 से अधिक जांचे निःशुल्क करने का निर्णय लिया है ताकि उत्तराखण्ड का कोई भी भाई बहन उपचार से वंचित न रहे।

उन्होने कहा कि सरकार द्वारा किसानों के हित में बड़े-बड़े कार्य किये जा रहे है। सरकार का एजेण्डा सिर्फ चुनाव जीतना नही बल्कि उत्तराखण्ड का समग्र विकास है, आने वाले दिनो में उत्तराखण्ड देश का सर्वश्रेष्ठ राज्य बनेगा। उन्होने कहा कि हम जनता की भावनाओं के साथ है और आम जनता की भावनाओं को खुशी में बदलना चाहते है।

उन्होने सम्बन्धित सभी अधिकारियों को निर्देश दिये कि विकास कार्यों से सम्बन्धित टेण्डर प्रक्रिया 15 सितम्बर 2021 से पहले पूर्ण करना सुनिश्चित करें ताकि वर्षा काल समाप्त होते ही विकास कार्य शीघ्र प्रारम्भ किया जा सके। इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने अनेक घोषणाऐं की।

मुख्यमंत्री ने की कई घोषणायें

इस अवसर पर मुख्यमंत्री द्वारा कई घोषणायें की गई, जिनमें खटीमा चौराहे से थारू विकास भवन तक सड़क चौड़ीकरण व प्रकाश व्यवस्था की जायेगी, दीनदयाल पार्क का सौंदर्यीकरण किया जायेगा, मेलाघाट रोड, पीलीभीत रोड, रूद्रपुर रोड एवं टनकपुर रोड के दोनो तरफ फुटपाथ पर टाईल्स निर्माण किया जायेगा, नगर क्षेत्र खटीमा में एक पुस्तकालय का निर्माण किया जायेगा, नगर एवं समीपवर्ती क्षेत्र स्ट्रीट लाईट के कार्य किये जाऐंगें।

शहर अन्तर्गत मुख्यमार्गों की सभी दीवारों पर वॉल पेन्टिग की जायेगी, नगर अन्तर्गत ओरना मिन्टर प्लांट लगाये जायेगें, विधानसभा क्षेत्र खटीमा में संचालित आश्रम पद्धति विद्यालय की चाहर दीवारी का निर्माण किया जायेगा, नगर क्षेत्र खटीमा के नाला में वेण्डर जोन का निर्माण किया जायेगा।

भारत-नेपाल के बार्डर पर होगा आकर्षण व भव्य द्वार का निर्माण

नगर क्षेत्र खटीमा में जगह-जगह शौचालयों का निर्माण किया जायेगा, खटीमा नगर क्षेत्र में डोर-टू-डोर कूड़ा कलेक्शन व सोलिड वेस्ट मैनेजमैन्ट का कार्य किया जायेगा, भारामल बाबा मन्दिर का सौन्दर्यीकरण व विकास कार्य किया जायेगा, संजय पार्क के मेलाघाट रोड का उच्चीकरण, भारत-नेपाल के बार्डर पर आकर्षण व भव्य द्वार का निर्माण, शारदा नदी के किनारे वनभूमि पर पार्क का निर्माण, खटीमा में पुरानी तहसील पर राजस्व निरीक्षक/उपनिरीक्षक हेतु शासकीय कार्यालय का निर्माण, खटीमा के नालों को कवर कर आवागमन वेण्डर जोन आदि का निर्माण, नगर क्षेत्र में जल भराव समस्या के सम्बन्ध में जल निकासी की समुचित व्यवस्था, मण्डी समिति का विस्तारीकरण के कार्य की घोषणऐं की गई।

इस अवसर पर विधायक डा0 प्रेम सिंह राणा, जिलाध्यक्ष शिव अरोरा, उपाध्यक्ष किसान आयोग राजपाल सिंह, आईजी अजय रौतेला, जिलाधिकारी श्रीमति रंजना राजगुरू, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक दलीप सिंह कुंवर, मुख्य विकास अधिकारी आशीष भटगई उपस्थित थे।

RELATED ARTICLES

Leave a reply

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
- Advertisment -
- Advertisment -

Most Popular

- Advertisment -

Recent Comments

error: Content is protected !!