Home हमारा उत्तराखण्ड टिहरी पंचायत लर्निंग सेंटर के रूप में होगी अब कोडारना गांव की पहचान

पंचायत लर्निंग सेंटर के रूप में होगी अब कोडारना गांव की पहचान

0
232

केंद्र सरकार के पंचायतीराज विभाग की निदेशक मालती रावत ने परखी योजनाओं की प्रगति


नई टिहरी। नरेंद्रनगर ब्लॉक के कोडारना गांव की पहचान अब पंचायत लर्निंग सेंटर से होगी। गांव में पंचायतीराज विभाग की योजनाओं का प्रशिक्षण दिया जाएगा। केंद्र सरकार में पंचायती राज विभाग की निदेशक मालती रावत ने गांव का भ्रमण कर योजनाओं की प्रगति देखी।

गांव में सड़क, सामुदायिक सुविधा के तहत स्कूल, आंगनबाड़ी, पंचायत भवन, अतिथि गृह का जिला पंचायत, क्षेत्र और ग्राम पंचायत से बेहतर कार्य कराया गया है। सतत विकास लक्ष्यों को गांव ने हासिल कर नया आयाम स्थापित किया है।


शनिवार को संविधान दिवस पर केंद्र सरकार के पंचायतीराज विभाग की निदेशक मालती रावत ने विभागीय के अधिकारियों के साथ कोडारना गांव का भ्रमण किया। जिला पंचायत अध्यक्ष सोना सजवाण ने उनका स्वागत करते हुए संचालित योजनाओं का ब्योरा बताया। उन्होंने गांव के लिए जिला पंचायत द्वारा बनाई गई 10 मीटर चौड़ी अप्रोच सीसी रोड, पंचायत भवन में निर्मित आधुनिक अतिथि गृह, आंगनबाड़ी केंद्र, स्वास्थ्य उपकेंद्र की व्यवस्था देखी और संतुष्ट नजर आईं।

जिला पंचायत अध्यक्ष सोना सजवाण ने बताया कि ग्रामीण स्वच्छता, पर्यटन, जल संवर्धन के कार्य जिले में कराए जा रहे हैं। पंचायतीराज विभाग के अपर सचिव ओंकार सिंह और संयुक्त निदेशक राजीव कुमार नाथ त्रिपाठी ने बताया कि सतत विकास लक्ष्यों के तहत प्रत्येक जिले में दो-दो ग्राम पंचायतों का चयन वहां चाइल्ड, वूमेन फ्रेंडली, इको-फ्रेंडली वातावरण तैयार किया जा रहा है।

कोडारना में पंचायत लर्निंग सेंटर बनाकर पंचायतों की योजनाओं का आगंतुकों को प्रशिक्षण दिया जाएगा। गांव में सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट, इको पार्क, ओपन जिम आदि की व्यवस्था की जा रही है। यह गांव एक मॉडल गांव के रूप में विकसित किया जा रहा है। इस मौके पर जिला पंचायत सदस्य रघुवीर सजवाण, दयाल सिंह, बलवंत सिंह रावत, एएमए संजय खंडूरी, राकेश शर्मा, बीडीसी अनिल भट्ट, प्रधान सुनीता भट्ट, एई सतीश त्रिपाठी, गणेश भट्ट भी मौजूद थे।

No comments

Leave a reply

Please enter your comment!
Please enter your name here

error: Content is protected !!