16.8 C
Dehradun
Saturday, January 29, 2022
Homeहमारा उत्तराखण्डटिहरीशहीद गौतम का पार्थिव शरीर उनके पैतृक गांव नौली पहुंचा, सैन्य सम्मान...

शहीद गौतम का पार्थिव शरीर उनके पैतृक गांव नौली पहुंचा, सैन्य सम्मान के साथ अंतिम विदाई

पिछले दिनों नगाालैंड में हुई हिंसा में शहीद हुए उत्तराखंड के गौतम लाल का पार्थिव शरीर आज मंगलवार को उनके पैतृक गांव नौली पहुंच गया। पार्थिव शरीर के पहुंचते ही परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल हो गया। गांव वाले उन्हें संभालते नजर आए। वहीं शहीद को श्रद्धांजलि देने वालों की भीड़ उमड़ पड़ी।

इस दौरान शहीद गौतम अमर रहे और भारत माता की जय के नारे लगते रहे। इस दौरान विधायक विनोद कण्डारी, पूर्वं मंत्री मंत्री प्रसाद नैथानी और दिवाकर भट्ट भी मौजूद रहे।

इससे पहले विधानसभा अध्यक्ष प्रेमचंद अग्रवाल ने एम्स ऋषिकेश पहुंचकर शहीद के पार्थिव शरीर पर पुष्पचक्र अर्पित कर अपनी श्रद्धांजलि दी। प्रेमचंद अग्रवाल ने कहा है कि शहीद गौतम लाल का बलिदान देश कभी नहीं भूल पाएगा l उत्तराखंड को वीरभूमि कहते हैं जब भी देश को जरूरत होती है, इस धरा के वीर जवानों ने देश की आन, बान और शान के लिए अपने प्राण निछावर किए हैं l पूरा देश व प्रदेश शहीद गौतम लाल के परिजनों के साथ है।

टिहरी जिले के हिसरियाखाल क्षेत्र की ग्राम पंचायत नौली के नौसिला तोक निवासी सेना के जवान गौतम लाल के नागालैंड में शहीद होने की खबर से क्षेत्र में मातम पसरा हुआ है। माता-पिता, भाई-बहन को रो-रोककर बुरा हाल है। परिजन सोमवार दिनभर उनके पार्थिव शरीर की इंतजार करते रहे, लेकिन वह नहीं पहुंचा।

शहीद का पार्थिव शरीर देर शाम देहरादून जौलीग्रांट एयरपोर्ट पहुंचा, जिसे एम्स ऋषिकेश में रखा गया। मंगलवार सुबह शहीद का पार्थिव शरीर गांव पहुंचा। गांव से शहीद की अंतिम यात्रा निकलेगी। तत्पश्चात राजकीय एवं सैन्य सम्मान के साथ उसको पैतृक घाट पर अंतिम विदाई दी जाएगी।

शहदी गौतम सेना की पैरा स्पेशल फोर्स की 21वीं बटालियन में पैराटू्रपर थे, वह नागालैंड में शहीद हो गए। गौतम पांच भाई-बहनों में सबसे छोटे थे। उनकी तीन बहनें हैं। उसकी शहादत की खबर सुनकर क्षेत्र में शोक की लहर है।

परिवार के साथ ही गौतम के दोस्त भी उनकी शहादत से गमगीन हैं। वह बताते हैं कि गौतम ने जनवरी मेें आने का वादा किया था। वहीं परिजन और क्षेत्रीय लोगों का कहना है कि गौतम की शहादत पर उन्हें गर्व है। बड़े भाई सुरेश ने बताया कि गौतम मई में बहन की शादी में घर आया था।

इसके बाद जून में वह ड्यूटी पर चला गया था। वह अक्तूबर में फिर घर आया था। उसने बताया कि ऑपरेशन से एक दिन पहले फोन पर गौतम ने बताया था कि वह कहीं जा रहा है। लौटने के बाद फोन करेगा, लेकिन इसके बाद कोई फोन नहीं आया।

——————————

कीर्तिनगर। टिहरी जिले के नौली गांव (हिंसरियाखाल पट्टी) निवासी सेना के पैराटू्र पर गौतम लाल (24) नागालैंड में शहीद हो गए हैं। जानकारी के मुताबिक नागालैंड में जवानों ने उग्रवादी समझकर फायरिंग कर दी। इस घटना में सात मजदूर सहित कुल 13 लोगों की मौत हो गई।

जिसके बाद वहां हिंसा हो गई और इस हिंसा में गौतम लाल शहीद हो गए। नौली गांव के लाल के शहीद होने की खबर मिलते ही क्षेत्र में शोक की लहर दौड़ पड़ी है। इधर, क्षेत्रीय विधायक विनोद कंडारी ने जवान की शहादत पर शोक जताया है। शहीद का पार्थिव शरीर सोमवार को जॉलीग्रांट देहरादून लाया जाएगा।

विकास खंड कीर्तिनगर में हिंसरियाखाल क्षेत्र के नौली गांव (नौसिला तोक) के रमेश लाल और रूपा देवी के सबसे छोटे पुुत्र वर्ष 2018 में पैराशूट रेजीमेंट की 21वीं बटालियन में भर्ती हुए थे। इन दिनों वह नागालैंड ड्यूटी में थे।

गौतम पांच भाइयों में सबसे छोटे थे। उनकी तीन बहनें हैं। पिता रमेश गांव में मेहनत मजदूरी का काम करते हैं। राजकीय इंटर कॉलेज हिंसरियाखाल से इंटरमीडिएट की पढ़ाई करने के बाद वह सेना में भर्ती हो गए थे।

RELATED ARTICLES

Leave a reply

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
- Advertisment -
- Advertisment -
- Advertisment -

Most Popular

- Advertisment -

Recent Comments

error: Content is protected !!