World No Tobacco Day: विश्व तम्बाकू निषेद दिवस हर वर्ष 31 मई को मनाया जाता है जिसका उद्देश्य लोगों को तम्बाकू से होने वाले नुकसान के विषय में जानकारी देना है। भारत में मुख्यतः मुँह और फेफड़ो को कैंसर होने को कारण तम्बाकू का सेवन ही है। भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद् से प्राप्त आकड़ों के अनुसार केवल भारत में ही 70% ऐसे कैंसर के मामले हैं जिनका मुख्य कारण तम्बाकू का सेवन है।

WHO की रिपोर्ट के अनुसार विश्व में हर साल लगभग 80 लाख लोगों की मृत्यु तम्बाकू के सेवन से होती है। कैंसर जैसी भयानक बीमारी का सबसे बड़ा कारण तम्बाकू तथा निकोटिन का सेवन ही है। रिपोर्ट की माने तो जानकारी मिली है कि दुनिया भर में लगभग 40% पुरुष तथा 20% महिलाओं को कैंसर होने का कारण तम्बाकू का सेवन ही है।

World No Tobacco Day History: विषय स्वास्थय संगठन के सदस्य देशों के सहयोग से सर्वप्रथम वर्ष 1988 में World No Tobacco Day मनाया गया जिसका मुख्य उद्देश्य था कि लोगों को तम्बाकू से होने वाली बीमारियों के प्रति सजग किया जाए।

इस वर्ष World No Tobacco Day का विषय है “युवाओ को तम्बाकू के चंगुल से बचाना और उन्हें तम्बाकू और निकोटिन कि सेवन से रोकना”।

कैसे बचा सकते है युवा खुद को इस आदत से : आज तम्बाकू सेवन से न जाने कितने युवाओं का भविष्य खतरे में हैं , अधिकतर युवा अपने साथ के लोगों के कारण इस आदत के शिकार हो जाते है बहुत से लोग इस आदत को छोड़ना भी चाहते हैं परन्तु सही मार्गदर्शन ना मिलने के कारण वो इस लत को नहीं छोड़ पातें है। नीचे दी गई कुछ आदतों को अपनाकर आप तम्बाकू की आदत से छुटकारा पा सकतें है ।

  • अपना एक लक्ष्य निश्चित करें की आपको तम्बाकू का सेवन छोड़ना है।
  • एक डायरी में उस दिन को अंकित करें जिस दिन से आप ने इसकी शुरुवात करी है।
  • उन लोंगो से तथा उन चीजों से दूर रहें जो आपको इसके लिए उकसाते है।
  • सबसे महत्वपूर्ण बात कि आपकी इछाशक्ति ही आपका सबसे बड़ा पॉजिटिव पॉइंट है अपने इरादों को अडिग रखें ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here