देहरादून। उत्तराखण्ड सरकार के सामने बड़ी अजीबोगरीब स्थिति आ खड़ी हुई है। प्रदेश के आईएएस अधिकारी और महिला सशक्तीकरण एवं बाल विकास विभाग के निदेशक वी षणमुगम बीते दो दिन से लापता चल रहे हैं। विभागीय मंत्री रेखा आर्य ने देहरादून के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अरुण मोहन जोशी को पत्र लिखकर उनके अपहरण की आशंका जताई है।

राज्यमंत्री रेखा आर्य ने वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक को लिखे पत्र में बताया कि वी षणमुगम वर्तमान में उनके विभाग में अपर सचिव एवं निदेशक के पद पर कार्यरत हैं, जो 20 सितंबर से गायब हैं, और उनका मोबाइल फोन भी बंद चल रहा है। कई बार संपर्क करने के बाद भी उनसे संपर्क नहीं हो पा रहा है।

आर्य के अनुसार या तो किसी ने उनका अपहरण कर लिया है या फिर वह खुद ही भूमिगत हो गए हैं। उनका कहना है कि विभाग में मानव संसाधन आपूर्ति के लिए टेंडर की प्रक्रिया चल रही थी, जिसमें घोर अनियमितता एवं धांधली सामने आ रही हैं। उन्होंने कहा कि इस बात से भी इनकार नहीं किया जा सकता कि ऐसी स्थिति से बचने के लिए वह स्वयं ही भूमिगत हो गए हों।

उन्होंने पुलिस से आईएएस की तलाश करने को कहा है। मंत्री ने कहा है कि षणमुगम को यह भी अवगत कराया जाए कि विभागीय मंत्री ने उन्हें तलब किया है। इस बीच श्री षणमुगम से संपर्क करने का प्रयास किया गया लेकिन उनसे संपर्क नहीं हो पाया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here