यहां सचिवालय में रोजमर्रा के कार्यों के लिए अब आम लोगों को परेशान नहीं होना पड़ेगा। सचिवालय प्रशासन ने आगामी एक जुलाई से आगंतुकों को प्रवेश पत्र के आधार पर प्रवेश की अनुमति देने के आदेश जारी कर दिए हैं। हालांकि फिलहाल अभी एक दिन में 50 लोगों को ही प्रवेश मिल पाएगा।

यह भी जानें- Uttarakhand: 3 आईपीएस अधिकारियों के दायित्वों में फेरबदल

सचिवालय में निजी सचिवों की ऑनलाइन मंजूरी के बाद लोगों को प्रवेश पत्र जारी होंगे। सचिवालय प्रशासन की अपर मुुख्य सचिव राधा रतूड़ी ने इस संबंध में आदेश जारी कर दिए हैं।

 जानें-  चारधाम दर्शन को गाइडलाइन जारी,एक जुलाई से दर्शन,यहाँ से करें ई-पास के लिए आवेदन

विदित हो कि वैश्विक महामारी कोरोना के चलते बीते मई और जून में सचिवालय प्रशासन ने सचिवालय में आगंतुकों के प्रवेश को पहले सीमित कर दिया था, इसके बाद कोरोना के बढ़ते प्रभाव को देखते हुए सचिवालय में सभी आगंतुकों के प्रवेश को पूरी तरह से प्रतिबंधित कर दिया गया था।

बता दें कि यह प्रतिबंध अनलॉक 1.0 में भी जारी रहा, लेकिन अब अनलॉक 2.0 के तहत राज्य सरकार के स्तर पर दी जा रही छूट के चलते सचिवालय प्रशासन ने भी सचिवालय में प्रवेश पर लगे प्रतिबंध को हटा दिया है।

जानें-  कोरोना के आज मिले 8 मामले, अब तक 2831

वर्तमान में अभी सचिवालय में सिर्फ वहीं के अधिकारी, कर्मचारी, वाहन चालक व अन्य राजकीय अधिकारी कर्मचारी व वाहन चालकों को ही प्रवेश की छूट प्रदान की गई है। अब आगामी एक जुलाई से अधिकारियों से मुलाकात करने वाले आगंतुकों के पास मुख्य सचिव, अपर मुख्य सचिव, प्रमुख सचिव, सचिव व प्रभारी सचिव के निजी सचिवों की ऑनलाइन स्वीकृति से जारी किए जाएंगे।

जबकि सीएम कार्यालय में आगंतुकों के लिए प्रवेश पत्र की ऑनलाइन स्वीकृति के लिए मुख्यमंत्री के निजी सचिव विक्रम सिंह चौहान को नामित किया गया है। चौहान की अनुपस्थिति में उनके लिंक अधिकारी यह कार्य देखेंगे।

यह भी जानें- निम की टीम ने हर्षिल की 4823 मीटर ऊंची चोटी पर लहराया तिरंगा

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here