देहरादून। वैश्विक महामारी कोरोना के चलते जारी लॉकडाउन में करीब दो माह तक पूरी तरह से बंद प्रदेश का सार्वजनिक परिवहन आज से प्रारंभ हो गया, लेकिन सरकार द्वारा इस संबंध में जारी गाइडलाइन को लेकर परिवहन महासंघ विरोध में खड़ा हो गया है।

राज्य के परिवहन महकमे ने ग्रीन और ऑरेंज जोन में सार्वजनिक परिवहन के लिए गाइडलाइन जारी कर दी हैं। इसके तहत सभी वाहन स्वामियों, वाहन चालकों, परिचालकों के साथ-साथ सभी यात्रा करने वाले यात्रियों को इसका सख्ती से अनुपालन करने के साथ शारीरिक दूरी का भी पालन करना होगा।

यह खबर भी पढ़ें-  उत्तराखण्ड में मनरेगा श्रमिकों के लिए खुशखबरीे

सूबे के सचिव परिवहन शैलेश बगौली ने बीते बुधवार को गाइडलाइन जारी कर शासन-प्रशासन के सभी आला अधिकारियों को भेज दी गई।

फिलहाल आज से विभिन्न जनपदों में परिवहन निगम की बसों को छोड़ अन्य वाहनों का संचालन शुरू होगा। दूसरे जनपदों में जाने के लिए अनुमति जरूरी लेनी होगी।

यात्रा से पूर्व इन नियमों पर दें ध्यान

– वाहन के चालक, परिचालक एवं हर यात्री को मास्क पहनना जरूरी।
– सभी वाहनों में हैंड सैनिटाइजर रखना होगा अनिवार्य।
– सभी वाहन चालक, परिचालक और यात्रा करने वाले यात्रियों को आरोग्य सेतु एप का उपयोग करना अनिवार्य।
– यात्रा के दौरान पान, तंबाकू, गुटखा एवं शराब का उपयोग वर्जित।
– अंर्तराज्यीय मार्गों पर सार्वजनिक ट्रांसपोर्ट का संचालन प्रतिबंधित।
– यात्रा पूर्व एवं यात्रा समापन पर वाहन का सैनिटाइजेशन जरूरी।
– बाहरी राज्यों से आने वाले प्रवासी एवं यात्री की राज्य में इन्ट्री के समय, प्रदेश के भीतर होगी थर्मल स्कैनिंग।

 यह खबर भी पढ़ें-  उत्तराखण्ड कैबिनेट आज, आ सकते कई अहम फैसले

गाइडलाइन के अध्ययन के बाद निगम अपनी बसें चलाने पर फैसला लेगा। फिलहाल निगम की बसें प्रवासियों के आवागमन में लगी हैं। गाइडलाइन के अनुसार सिटी बसों, मैक्सी कैब, टैक्सी कैब, ई रिक्शा, ऑटो एवं विक्रम की यात्री क्षमता तय की गई है। अभी वाहनों में यात्री क्षमता 50 फीसदी को स्वीकृत किया गया है।
रणवीर सिंह चौहान, प्रबंध निदेशक
उत्तराखण्ड परिवहन निगम

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here