6 C
New York
Tuesday, June 22, 2021
Homeहमारा उत्तराखण्डउत्तराखण्डः ग्रामीण इलाकों को अब राहत, सीएचसी और पीएचसी में भी...

उत्तराखण्डः ग्रामीण इलाकों को अब राहत, सीएचसी और पीएचसी में भी रैपिड एंटीजन टेस्ट

उत्तराखण्ड के दूरस्थ ग्रामीण क्षेत्रों में बढ़ रहे कोरोना संक्रमण पर प्रभावी अंकुश लगाने की दिशा में सरकार ने अब सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र (सीएचसी) और प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र (पीएचसी) में रैपिड एंटीजन टेस्ट से कोरोना संक्रमण की जांच कराने का निर्णय लिया है। सचिव स्वास्थ्य डॉ. पंकज कुमार पांडेय ने इस संबंध में आदेश जारी कर दिया है।

देखा जाए तो राज्य के मैदानी जिलों की तुलना में ग्रामीण क्षेत्रों में कोविड जांच की सुविधा काफी कम है। मैदानों में सरकारी और निजी पैथोलॉजी लैब में कोविड जांच की आरटीपीसीआर और एंटीजन जांच की जा रही है, जबकि कई पर्वतीय जिलों में कोविड जांच के लिए लैब ही नहीं है।

राज्य में कोरोना की दूसरी लहर में ग्रामीण क्षेत्रों में कोरोना संक्रमण तेजी से बढ़ रहा है। केंद्र और आईसीएमआर के दिशा-निर्देशों के बाद सरकार ने सीएचसी और पीएचसी में रैपिड एंटीजन टेस्ट कराने का निर्णय लिया है।

सचिव स्वास्थ्य ने जारी आदेश में सभी जिलों के मुख्य चिकित्साधिकारियों को सीएचसी व पीएचसी स्तर पर एंटीजन टेस्ट कराने के निर्देश दिए हैं। प्रदेश में अभी सीएचसी और पीएचसी में कोविड जांच की सुविधा नहीं थी। बता दें कि राज्य में सीएचसी की संख्या 81 है। जबकि 526 पीएचसी ए श्रेणी और 52 पीएचसी बी श्रेणी के हैं।

RELATED ARTICLES

Leave a reply

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

- Advertisment -

Recent Comments

error: Content is protected !!