उत्तराखंड विद्यालय शिक्षा परिषद की हाईस्कूल और इंटर की परीक्षा 4 मई से शुरू होकर 22 मई तक चलेगी। शिक्षा मंत्री अरविंद पांडेय ने पत्रकार वार्ता में इसकी घोषणा की। अरविंद पांडेय ने बताया कि 1347 केंद्रों में परीक्षा होगी।

हाईस्कूल की परीक्षा सुबह 8 से 11 और इंटर की परीक्षा दोपहर 2 से शाम 5 बजे तक होगी। 1 जून से 15 जून तक मूल्यांकन कार्य होगा। 15 जुलाई से पहले परीक्षा परिणाम घोषित किये जायेंगे। 10वीं में 1

प्रदेश में विभिन्न जिलों की ओर से परीक्षा केंद्र घोषित किए जा चुके हैं। इसके अलावा बोर्ड के छात्र-छात्राओं से परीक्षा फार्म भरवाए जा चुके हैं। परिषदीय परीक्षा में हाईस्कूल में 148828 और इंटरमीडिएट में 123485 छात्र-छात्राएं परीक्षा में शामिल होंगे।

दिनांक 3 अप्रैल 2021 से 25 अप्रैल 2021 तक: इंटरमीडिएट प्रयोगात्मक परीक्षाओं का संपादन और हाईस्कूल प्रयोगात्मक परीक्षा एवं आंतरिक मूल्यांकन परीक्षाएं संपन्न होंगी।

दिनांक 4 मई 2021 से 22 मई 2021 तक: हाईस्कूल तथा इंटरमीडिएट की लिखित परीक्षा संपन्न होंगी। हाईस्कूल की परीक्षाएं प्रातः 8:00 बजे से 11:00 बजे तक तथा इंटरमीडिएट की परीक्षाएं अपराह्न 2:00 बजे से 5:00 बजे के मध्य संपादित होंगी।

दिनांक 23 मई 2021 से 29 मई 2021 तक : लिखित उत्तर पुस्तिकाएं, उप संकलन केंद्रों द्वारा मुख्य संकलन केंद्र पर जमा की जाएँगी।

दिनांक 01 जून 2021 से 15 जून 2021 तक : लिखित उत्तर पुस्तिकाओं का मूल्यांकन कार्य।

दिनांक 16 जून 2021 से 15 जुलाई 2021 तक : हाईस्कूल एवं इंटरमीडिएट के परीक्षा परिणाम की तैयारी एवं परीक्षाफल की घोषणा।

इस बार बनाए गए हैं 23 परीक्षा केंद्र अधिक

हरिद्वार में सबसे अधिक 44143 और चंपावत में सबसे कम 8255 परीक्षार्थी होंगे। पौड़ी में सबसे अधिक 166 और चंपावत में 40 परीक्षा केंद्र बनाए गए हैं। प्रदेश में 223 संवेदनशील तथा 22 अतिसंवेदनशील केंद्र बनाए गए हैं।

स्वकेंद्र परीक्षा प्रणाली के अंतर्गत 43 नवीन परीक्षा केंद्र बनाए गए हैं। पिछले साल की तुलना में 23 परीक्षा केंद्र अधिक बनाए गए हैं। बता दें कि पिछले साल हाईस्कूल-इंटरमीडिएट में कुल दो लाख 71 हजार 415 छात्र-छात्राएं बोर्ड परीक्षा में शामिल हुए थे। परीक्षा के लिए प्रदेशभर में 1324 परीक्षा केंद्र बनाए गए थे।

एक फरवरी से खुले स्कूल

एक फरवरी से कक्षा छह से 12वीं तक के छात्र-छात्राओं के लिए स्कूल खोल दिए गए हैं। शिक्षा मंत्री अरविंद पांडेय ने कहा कि कोविड-19 की वजह से प्रदेश में पिछले कई महीनों से स्कूल बंद थे, लेकिन अब स्थिति कुछ सामान्य हो गई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here