23.2 C
Dehradun
Saturday, December 3, 2022
Homeहमारा उत्तराखण्ड12 वीं बोर्ड परीक्षा: अब एक जून को हो सकता फैसला

12 वीं बोर्ड परीक्षा: अब एक जून को हो सकता फैसला

रविवार को आज रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह की अध्यक्षता में सम्पन्न हुई बोर्ड परीक्षाओं के आयोजन के संबंध में उच्च स्तरीय बैठक के बाद केंद्रीय शिक्षा मंत्री डा0 रमेश पोखरियाल निशंक ने कहा कि कक्षा 12वीं की बोर्ड परीक्षाओं पर अन्य राज्यों के साथ बैठक सफल रही, क्योंकि हमें अत्यधिक मूल्यवान सुझाव मिले। बताया कि राज्य सरकारों से 25 मई तक अपने विस्तृत सुझाव भेजने का अनुरोध किया है।

निशंक ने कहा कि इससे हम कक्षा 12वीं की बोर्ड परीक्षाओं के संबंध में एक निर्णय पर पहुंचने में सक्षम होंगे और छात्रों और अभिभावकों के बीच अनिश्चितता को दूर करने के लिए उन्हें अपने निर्णय के बारे में जल्द से जल्द सूचित करेंगे। छात्रों और शिक्षकों दोनों की सुरक्षा हमारे लिए बेहद जरूरी है।

हालांकि बताया जा रहा है कि दिल्ली को छोड़ बाकी सभी राज्य 12 वीं बोर्ड की परीक्षा कराने के लिए सहमत हैं। अब सिर्फ परीक्षा के पैटर्न और एक्जाम डेट को लेकर रूपरेखा तय की जानी है।

बताया जा रहा है कि आगामी एक जून को केंद्रीय शिक्षा मंत्री की सीबीएसई के साथ बैठक होनी है जिसमें इस पर निर्णय लिया जा सकता है।

————————————

कल रविवार को रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह की अध्यक्षता में आयोजित उच्च स्तरीय बैठक में 12 वीं बोर्ड की परीक्षाओं को लेकर अहम निर्णय लिया जा सकता है। इसके अलावा व्यावसायिक पाठ्क्रमों की प्रवेश परीक्षा को लेकर इसमें फैसला आ सकता है। यह वर्चुअल मीटिंग कल 23 मई को सुबह 11.30 बजे होगी।

विदित हो कि इससे पूर्व प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की अघ्यक्षता में हुई उच्च स्तरीय बैठक में 10 वीं बोर्ड की परीक्षा को रद्द कर दिया गया था और 12वीं बोर्ड की परीक्षा को स्थगित करने का निर्णय लिया गया था। इस बीच प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने छात्रों के करियर को प्रभावित करने वाले किसी भी निर्णय को सभी राज्य सरकारों और हितधारकों के साथ व्यापक परामर्श में लिए जाने के निर्देश दिए थे। इस संबंध में केन्द्रीय शिक्षा मंत्री डा0 रमेश पोखरियाल निशंक ने हाल ही में राज्य के शिक्षा सचिवों के साथ बैठक की थी।

अब कल आयोजित उच्च स्तरीय बैठक रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह जी की अध्यक्षता में होगी, जिसमें केन्द्रीय शिक्षा मंत्री डा0 रमेश पोखरियाल निशंक के अलावा दो केन्द्रीय मंत्री स्मृति ईरानी और प्रकाश जावड़ेकर भी प्रमुख रूप से मौजूद रहेंगे, विदित हो कि यह दोनों ही मंत्री पूर्व में शिक्षा मंत्री रह चुके हैं।

इस बैठक को लेकर केन्द्रीय शिक्षा मंत्रालय द्वारा राज्य सरकार के सभी शिक्षा मंत्रियों और सचिवों से इस बैठक में शामिल होने और आगामी परीक्षाओं के संबंध में अपने बहुमूल्य विचार साझा करने का अनुरोध किया गया है।

दूसरी ओर, केन्द्रीय शिक्षा मंत्री डा0 रमेश पोखरियाल निशंक ने सोशल मीडिया के जरिए इस संबंध में लोगों से बहुमूल्य सुझावों को उनके ट्विटर हैंडल पर भेजने की अपील भी की है।

RELATED ARTICLES

Leave a reply

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
- Advertisment -
- Advertisment -
- Advertisment -
- Advertisment -
- Advertisment -

Most Popular

- Advertisment -

Recent Comments

error: Content is protected !!