6 C
New York
Wednesday, April 21, 2021
spot_img
Homeस्वास्थ्यHealth tips: कोरोनाः त्यौहारों के दौरान विशेष सतर्कता की जरुरत

Health tips: कोरोनाः त्यौहारों के दौरान विशेष सतर्कता की जरुरत

डा0 महेश भट्ट
कोरोना महामारी पिछले कुछ समय से पूरी दुनिया को परेशान किये हुए है। अभी हम देख सकते हैं कि हमारे देश में स्थिति कुछ हद तक सुधार की तरफ है। लेकिन यह स्थिति कब तक बनी रहेगी, कहना मुश्किल है, क्योंकि अगले कुछ समय में त्योहारी सीजन शुरू हो रहा है और फिर उसके बाद जाड़े अपनी दस्तक देंगे। त्यौहारों के दौरान विशेष सतर्कता की जरुरत होगी। हमको यह समझने की जरूरत है कि यह वायरस हमारे यहां सर्दी में कैसे व्यवहार करेगा, कुछ भी कहना अभी मुश्किल है। 

वैक्सीन आने में अभी कुछ समय लगेगा, तमाम कोशिशों के बावजूद भी साल के अंत तक वैक्सीन की उपलब्धता पर संशय बरकरार है। अतः इन सब परस्थितियों के मध्येनजर जरूरी हो जाता है कि शारीरिक दूरी का पालन किया जाय और मास्क लगा कर ही घर से बाहर निकला जाय। हाथ धोते रहें तथा बुखार, खांसी, या सांस लेने में दिक्कत होने पर तुरंत हेल्पलाइन से सम्पर्क करें।

यह देखने में आया है कि सही तरीके से मास्क पहनने से आप कोरोना की संभावना को 60 प्रतिशत तक कम कर सकते हैं, साथ ही ये भी देखा गया है कि मास्क वायरल लोड को कम करता है जिससे इन्फेक्शन होने की स्थिति में बीमारी हल्की होती है और जल्दी ठीक होते हैं। मतलब ये की यदि आप मास्क सही से पहनते हैं तो आप अपने आपको अपने परिवार को और समाज को कोरोना से बचाने के साथ ही साथ उसकी घातक मारक छमता को भी कम करते हैं।

इस बीच कई प्रकार की भ्रामक तथ्य भी सोशल मीडिया में चलने लगते हैं, बहुत जरूरी है कि उन से बचा जाय, इसका सबसे सही तरीका ये है कि किसी ऐसी सूचना के मिलने पर उसको फॉरवर्ड न करें। गलत जानकारी को रोकना भी महामारी के रोकथाम में आपकी ओर से बहुत बड़ा योगदान हो सकता है। पूरे विश्व के स्वास्थ्य विशेषज्ञ इस गलत जानकारियों के समाज में फैलाव से परेशान हैं, इसीलिए इसको इनफोडेमिक भी कहा जा रहा है।

अंत में हमको ये समझने की बहुत आवश्यकता है कि अभी कुछ भी सही से नहीं कहा जा सकता है कि कोरोना आगे किस रूप में चलेगा, इस पर वैक्सीन का असर कैसा होगा, तथा आगे ये वायरस किस तरह अपने आप को बदलेगा। ऐसे में बहुत जरूरी है कि हम इस वायरस के साथ जीना सीखें, शारीरिक दूरी, मास्क एवं बार बार हाथों को धोने से हम इस लड़ाई को जीत सकते हैं।

(सर्जन, लेखक, सार्वजनिक स्वास्थ्य सलाहकार) एमडी एमएमबीएचएस ट्रस्ट एवं अध्यक्ष विज्ञान भारती, उत्तराखण्ड।

RELATED ARTICLES

Leave a reply

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments

error: Content is protected !!