रेलवे बोर्ड और उत्तर रेलवे की ओर से नए साल के ऐन मौके पर ही शताब्दी, जनशताब्दी समेत पांच ट्रेनों का संचालन ठप किए जाने से यात्रियों की मुसीबत बढ़ गई हैं। सबसे अधिक दिक्कत उन यात्रियों को हो रही है, जो नए साल का जश्न मनाने के लिए ट्रेनों में सफर करते हैं।

ऐसे में अब जबकि रेलवे बोर्ड और उत्तर रेलवे ने देहरादून से संचालित होने वाली ज्यादातर ट्रेनों के संचालन पर रोक लगा दी है तो ऐसे में यात्रियों की मुसीबत का बढ़ना लाजिमी है। कोरोना संकट के चलते देहरादून से संचालित होने वाली तमाम ट्रेनें पहले से ही बंद हैं।

देहरादून-नई दिल्ली जनशताब्दी, देहरादून-प्रयागराज लिंक एक्सप्रेस, देहरादून-काठगोदाम जनशताब्दी एक्सप्रेस, देहरादून-गोरखपुर राप्ती गंगा एक्सप्रेस और देहरादून-मुजफ्फरपुर राप्ती गंगा एक्सप्रेस समेत पांच ट्रेनों का संचालन मंगलवार से अगले आठ दिनों के लिए बंद कर दिया गया है। इन ट्रेनों का संचालन अब छह जनवरी से होगा। हालांकि जनशताब्दी का संचालन बुधवार से शुरू कर दिया जाएगा।

स्टेशन अधीक्षक (परिचालन) सीताराम शंकर ने बताया कि हरिद्वार-एकड़ रेलवे स्टेशन के बीच रेलवे लाइन के दोहरीकरण संबंधी निर्माण कार्यों के चलते रेलवे बोर्ड और उत्तर रेलवे की ओर से ट्रेनों के संचालन पर रोक लगाई गई है। बता दें, इससे पहले भी शताब्दी, जन शताब्दी और लिंक एक्सप्रेस जैसी ट्रेनों के संचालन पर पहले भी रोक लगाई जा चुकी है।

काठगोदाम-देहरादून के बीच चलने वाली नैनी-दून जनशताब्दी स्पेशल ट्रेन का संचालन कुछ दिन बंद रहेगा। काठगोदाम रेलवे स्टेशन अधीक्षक चयन राय ने बताया कि ट्रेन का संचालन मंगलवार से पांच जनवरी तक नहीं होगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here