6 C
New York
Tuesday, April 13, 2021
spot_img
Homeहमारा उत्तराखण्डस्मैक मांगने पर की थी राजपुर रोड के होटल में युवती की...

स्मैक मांगने पर की थी राजपुर रोड के होटल में युवती की हत्या

देहरादून के होटल एंबेसेडर में मुस्कान युवक से स्मैक मांग रही थी। बार-बार स्मैक मांगने पर जब वह चिल्लाने लगी तो युवक ने उसकी हत्या कर दी। यह कहानी पकड़े जाने के बाद आरोपी ने पुलिस को बताई है। आरोपी को श्रीनगर से गिरफ्तार किया गया है। इस बीच वह उत्तराखंड के कई शहरों से होता हुआ मथुरा उत्तर प्रदेश में भी रुका।

एसएसपी डॉ. योगेंद्र सिंह रावत ने बताया कि 14 मार्च को राजपुर रोड स्थित होटल एंबेसेडर में मुस्कान नाम की युवती की हत्या कर दी गई थी। पता चला कि युवती यहां पर किसी युवक के साथ आई थी। घटना के खुलासे के लिए इंस्पेक्टर कोतवाली शिशुपाल सिंह नेगी, इंस्पेक्टर एसओजी एश्वर्यपाल को शामिल करते हुए दो टीमें बनाई गईं। शनिवार देर रात विजय उर्फ बिट्टू सिंह रावत निवासी गांव गेरूड़, थराली, चमोली को श्रीनगर से गिरफ्तार कर लिया गया।

पूछताछ में आरोपी ने बताया कि वह 13 मार्च को मुस्कान के साथ होटल एंबेसेडर में रुका था। रात को मुस्कान अचानक स्मैक मांगने लगी। उसने मना किया तो वह जोर-जोर से चिल्लाने लगी। उसे चुप करना चाहा, लेकिन वह नहीं मानी। चूंकि, वह भी नशे की हालत में था तो उसने मुस्कान का गला दबाकर हत्या कर दी।

इसके बाद मौका देखकर वहां से भाग निकला। वहां से वह रेलवे स्टेशन पहुंचा और ऑटो लेकर आईएसबीटी पहुंच गया। वहां से हिमाचल रोडवेज की बस पकड़ी और हरिद्वार चला गया। हरिद्वार से अलीगढ़ की बस पकड़कर मथुरा पहुंच गया। दो-तीन दिन वहां रुककर अपने घर चमोली जा रहा था कि रास्ते में श्रीनगर में वह चेकिंग के दौरान पकड़ा गया।

आरोपी विजय इससे पहले भी कई अपराध कर चुका है। उसने पूछताछ में बताया कि वह 10वीं पास है और नौकरी न लगने के कारण खर्चों की पूर्ति के लिए चोरी व ठगी की घटनाएं करता है। वर्ष 2019 में कोटद्वार व ऋषिकेश में उसने स्कूटर व मोबाइल चुराए थे। इन घटनाओं में ऋषिकेश पुलिस ने उसे पकड़ा, जिसके बाद वह सुद्धोवाला जेल चला गया। यहां आठ महीने की सजा पूरी करने के बाद वह छूट गया। कोटद्वार के मुकदमे में पौड़ी जेल चला गया।

सजा पूरी करने के बाद वह एक वेडिंग प्वाइंट में खाना बनाने का काम करने लगा। मालिक का विश्वास जीता तो मालिक ने उसे कमरे की चाभी दे दी, लेकिन वहां से वह चोरी कर भाग गया। कुछ दिन वह ऋषिकेश में रहा। पैसा खत्म होने के बाद वह अल्मोड़ा पहुंचा। यहां 10-15 दिन दुकान में काम किया और अपने परिचित की बाइक व पैसे लेकर देहरादून आ गया। चेकिंग के दौरान पुलिस ने बाइक सीज कर दी। देहरादून से भागकर वह हरिद्वार चला गया, वहां होटल में रूम सर्विस का काम किया, लेकिन दो-तीन दिन बाद वहां से भी उसने 40 हजार रुपये चुरा लिए।

आरोपी ने सुनील कुमार की आईडी चुराई थी। इसी आईडी का इस्तेमाल उसने सेलाकुई में रुकने के लिए भी किया, लेकिन कहीं पकड़ में नहीं आया। एसएसपी ने बताया कि सुनील कुमार से भी पुलिस ने पूछताछ की तो पता चला कि उसने अपना पर्स खो जाने की पुष्टि की थी। आरोपी को न्यायालय में पेश किया गया, जहां से उसे जेल भेज दिया गया है।

आरोपी के खिले जिन अक्षरों की कहानी में पुलिस उलझी हुई थी। वह असल में उसने हत्या का कारण लिखा था। पुलिस के अनुसार उसने लिपस्टिक से लिखा था कि यह लड़की मुझसे स्मैक मांग रही थी, इसलिए मैने इसकी जान ले ली। हालांकि, इन वाक्यों को उसने तौलिये से मिटा दिया था। इनमें से केवल क और ज अक्षर ही बचे थे।

————————————————-

यहां राजधानी स्थित राजपुर रोड के होटल एंबेसडर में 22 वर्षीय युवती की हत्या कर दी गई। युवती का शव कमरे में बेड के गद्दों के बीच रजाइयों से ढका हुआ पड़ा था। युवती के मुंह और गर्दन के पीछे सिर से खून निकला था। परिजनों के मुताबिक युवती रविवार शाम को घर से निकली, लेकिन वापस नहीं आई। परिजन ही उसकी तलाश करते हुए होटल पहुंचे थे। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भिजवाया और मामले की जांच में जुट गई है।

जांच में पता में चला कि वह एक युवक के साथ होटल में ठहरी थी। पुलिस युवक को तलाश कर रही है। युवती की पहचान नुसरत उर्फ मुस्कान निवासी चंद्रबनी के रूप में हुई है। उसके परिजनों ने बताया कि मुस्कान चंद्रबनी में जावेद नाम के युवक के साथ रहती है।

हालांकि, उसने शादी की है या नहीं इस बारे में जानकारी परिजनों को भी नहीं है। मुस्कान की बहन जीनत निवासी जैन प्लाट ने बताया कि सोमवार सुबह जावेद उसके पास आया और कहा कि मुस्कान रविवार शाम को उससे झगड़ा करने के बाद घर से निकल गई थी। इसके बाद से वह वापस नहीं आई है।

सुबह 10 बजे से दो बजे तक सभी रिश्तेदारों और परिजनों ने उसकी तलाश की। इस बीच पता चला कि युवती को एक व्यक्ति ने होटल के बाहर छोड़ा है। जीनत और जावेद होटल पहुंचे तो होटल स्टाफ ने उन्हें वहां से टालना चाहा। लेकिन, बकौल जीनत उसने जब पुलिस बुलाने की धमकी दी तो एक कर्मचारी ने बताया कि जीनत एक युवक के साथ कमरा नंबर 321 में ठहरी थी। लेकिन, इसके बाद किसी ने चेकआउट नहीं किया। एक डुप्लीकेट चाभी से कमरा खोला तो मुस्कान वहां नहीं दिखी।

जीनत के अनुसार उन्होंने अलमारी आदि को खोलकर देखा, लेकिन उसका कहीं पता नहीं चला। इस पर उसने रजाइयां उठाकर देखा तो बेड के दोनों गद्दों के बीच मुस्कान पड़ी हुई थी। उसके चेहरे का आधा हिस्सा नीला पड़ गया था और उसके मुंह से खून निकला हुआ था। उसके सिर में पीछे की तरफ भी चोट के निशान थे।

सूचना के बाद वहां पर कोतवाली पुलिस और आला अधिकारी भी पहुंच गए। मौके पर फोरेंसिक टीम को भी बुला लिया गया था। एसपी सिटी सरिता डोभाल ने बताया कि मामले में जांच की जा रही है। वह यहां पर किसके साथ आई थी और कमरे में क्या हुआ यह सब जांच के बाद ही पता चल पाएगा।

इस पूरे मामले में होटल स्टाफ की लापरवाही भी सामने आ रही है। होटल में कमरा नंबर 321 में सुनील कुमार निवासी ऊधमसिंह नगर ठहरा हुआ था। रजिस्टर में यह भी एंट्री नहीं थी कि उसके साथ कोई और ठहरा था। होटल स्टाफ ने सुनील की आईडी के रूप में ड्राइविंग लाइसेंस लिया, लेकिन युवती की कोई आईडी अपने पास नहीं रखी।

शव दो गद्दों के बीच में रजाइयों से ढका हुआ था। शुरूआत में जब होटल स्टाफ और परिजन कमरे में दाखिल हुए तो उन्हें मुस्कान का पता ही नहीं चला। शुरूआती पड़ताल में माना जा रहा है कि कातिल मुस्कान की हत्या कर शव को यहां छुपाकर चुपचाप होटल से बाहर चला गया।

दरअसल, जब पुलिस वहां पर पूछताछ कर रही थी तो काउंटर पर रजिस्टर रखा हुआ था। इस रजिस्टर में किसी विकास शर्मा का नाम लिखा था। उसी के नाम पर कमरा नंबर 321 दर्ज था। वह वहां पर 49वां ग्राहक था। लेकिन, उसके आगे न तो पता साफ-साफ लिखा था और न ही समय। इसमें कुछ देर बाद जब वहां पर एक रजिस्टर लाया गया तो पता चला कि कमरा नंबर 321 सुनील कुमार के नाम पर था।

लेकिन, यहां भी न तो पता साफ लिखा था और न ही समय। पहला रजिस्टर आधा भरा हुआ था। उस पर सीरियल नंबर भी लिखा हुआ था। लेकिन, स्टाफ बाद में जो दूसरा रजिस्टर लाया उसके आखिरी कुछ पन्नों पर ही यह नाम आदि दर्ज थे। हालांकि, इनमें से कौन सा रजिस्टर सही है यह तो जांच में पता चलेगा। लेकिन, प्रथमदृष्टया तो यह चालबाजी के अलावा कुछ नहीं दिख रही है।

RELATED ARTICLES

Leave a reply

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments

error: Content is protected !!