देहरादून। प्रदेश के भीतर आवागमन को लेकर खासी दिक्कतें उठा रहे लोगों के लिए राहत भरी खबर है। प्रदेश में पिछले तीन माह से अधिक समय से ठप चला आ रहा रोडवेज बसों का संचालन 25 जून से शुरू किया जा रहा है। हालांकि अभी रोडवेज द्वारा सिर्फ प्रदेश के भीतर ही बसों का संचालन किया जा रहा है।

देश के दूसरे राज्यों तक बसों के संचालन के लिए अभी सहमति नहीं बन पाई है। इसके लिए एनओसी मिलने पर जल्द ही अन्य राज्यों के लिए भी रोडवेज अपनी बसों का संचालन पूर्व की भांति कर पाएगा। प्रदेश में नैनीताल मंडल के 36, टनकपुर मंडल के 10 और देहरादून मंडल के 37 मार्गों पर फिलहाल बसों का संचालन किया जाएगा।

बीते रोज परिवहन निगम की बोर्ड बैठक में बसों के संचालन को मंजूरी प्रदान की गई। इस बैठक में निर्णय लिया गया कि प्रथम फेज में प्रदेश के चुनिंदा 83 मार्गों पर ही बसों का संचालन किया जाएगा। इसके बाद यदि यात्रियों की संख्या में बढ़ोत्तरी हुई तो गाड़ियों की संख्या बढ़ाई जाएगी।

बैठक में इस बात पर भी चर्चा की गई कि राज्य के अतिरिक्त दिल्ली, उत्तर प्रदेश समेत अन्य राज्यों तक बस संचालन किस प्रकार से किया जाए। बताया गया कि अभी तक किसी भी दूसरे राज्य से बस संचालन को एनओसी नहीं मिली है। निर्णय लिया गया कि अभी दूसरे राज्यों के लिए बसों का संचालन नहीं किया जाएगा। बोर्ड बैठक में अपर मुख्य सचिव ओमप्रकाश, परिवहन निगम के एमडी रणवीर सिंह चैहान, सचिव आरके सुधांशु एवं बोर्ड सदस्य मौजूद रहे।

बस संचालन को जारी एडवाइजरी

रोडवेज बसों के संचालन के लिए परिवहन निगम ने दिशा-निर्देश जारी कर दिए हैं। इसके तहत तीन यात्रियों क्षमता वाली सीट पर दो और दो यात्री क्षमता वाली सीट पर एक यात्री बैठेगा। यात्रियों को फेस मास्क की अनिवार्यता के साथ ही सैनिटाइजेशन आदि की जिम्मेदारी परिचालकों को दी गई है।

सभी बसों में चालक एवं परिचालक के लिए अलग से केबिन बनाना होगा। बसों में कोरोना संक्रमण के जागरुकता से जुड़े स्टीकर भी चस्पा करने होंगे। बसों के रवाना होने से पहले सैनिटाइजेशन का प्रमाण पत्र देना होगा। बसों के साथ पूरे स्टेशन परिसर को प्रतिदिन सैनिटाइजेशन कराना होगा।

अन्य जरूरी दिशा-निर्देश

  • डिपो के भीतर सभी यात्रियों की होगी थर्मल स्क्रीनिंग।
  • थर्मल स्क्रीनिंग के लिए कर्मचारियों की होगी अलग तैनाती।
  • शाम सात बजे के बाद नहीं होगी कोई भी बस रवाना।
  • सहायक महाप्रबंधक यात्रा मार्गों पर निरीक्षक की लगाएंगे ड्यूटी।
  • बसों में शारीरिक दूरी का पालन सुनिश्चित कराएंगे निरीक्षक।
  • शारीरिक दूरी का पालन न हुआ तो संबंधित चालक-परिचालक के खिलाफ होगी कार्रवाई।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here