29.8 C
Dehradun
Sunday, July 25, 2021
Homeहमारा उत्तराखण्डDisaster: दो घंटे में बहाल हों सड़क, बिजली और पानी की सुविधा:...

Disaster: दो घंटे में बहाल हों सड़क, बिजली और पानी की सुविधा: डा. धन सिंह रावत

  • बरसात के दौरान 24 घंटे अलर्ट रहे सभी आवश्यक सेवा वाले विभाग
  • एनएच , पीएमजीएसवाई , लोनिवि , जल संस्थान एवं विद्युत विभाग के अधिकारियों को दिये निर्देश
  • समीक्षा बैठक में आधुनिक तकनीकी से युक्त रेस्पांस सिस्टम तैयार करने पर बनी सहमति

देहरादून। सूबे में बरसात का सीजन शुरू होते ही सम्भावित आपदाओं के दृष्टिगत सभी रेखीय विभागों को अलर्ट रहने को कहा गया है। जबकि एनएच, पीएमजीएसवाई, लोनिवि, जल संस्थान एवं विद्युत विभाग के अधिकारियों को आपदा के दौरान दो घंटे के भीतर अपनी सेवाएं बहाल करने के निर्देश दिये गए।

यह बात राज्य के आपदा प्रबंधन एवं पुनर्वास राज्य मंत्री डा. धन सिंह रावत ने विधानसभा में आपदा एवं रेखीय विभागों की बरसात पूर्व तैयारियों को लेकर आयोजित समीक्षा बैठक में कही । उन्होंने कहा कि उत्तराखंड आपदा की दृष्टि से अति संवेदनशील है जिसके मध्यनजर आपदा विभाग सहित तमाम रेखीय विभागों को 24 घंटे अलर्ट रहने की आवश्यकता है।

खासकर एसडीआरएफ, पुलिस एवं जिला प्रशासन तथा स्वास्थ्य विभाग को हर समय चौकन्ना रहने की आवश्यकता है । इसी प्रकार एनएच, पीएमजीएसवाई, लोनिवि, दूरसंचार, जल संस्थान एवं विद्युत विभागों को आपदा के दौरान जन सेवाएं बाधित होने पर दो घंटे के भीतर अपनी सेवाएं बहाल करनी होगी।

उन्होंने कहा कि राज्य में किसी भी आपत स्थिति से निपटने के लिए फिलहाल दो हेलीकॉप्टर किराये पर लिये गये हैं । जिनमें से एक की तैनाती पिथौरागढ़ में कर दी गई है, जबकि दूसरा हेलीकॉप्टर शीघ्र ही गौचर में तैनात कर दिया जायेगा।

बैठक में मौजूद अधिकारियों द्वारा आपदा के दौरान सूचनाओं के आदान – प्रदान , त्वरित कार्रवाही एवं राहत और बचाव कार्यों के कुशल संचालन हेतु राज्य एवं जिला स्तर पर आधुनिक तकनीक एवं सुविधाओं से युक्त एक रिस्पांस सिस्टम तैयार करने की आवश्यकता पर बल दिया गया।

जिसमें Disaster आपदा के दौरान आपदा प्रबंधन एवं रेखीय विभागों के पास मौजूद उपकरणों, मानव संसाधनों एवं समस्याओं के निस्तारण की तकनीकी जानकारी तत्काल प्राप्त हो सके । सभी रेखीय विभागों ने अपने विभागों द्वारा बरसात के मध्यनजर की जा रही तैयारियों की जानकारी देते हुए पूरी कार्ययोजना बताई।

बैठक में अपर सचिव आपदा प्रबंधन सबिन बंसल, उप महानिरीक्षक एसडीआफएफ रिद्धिम अग्रवाल, महानिदेशक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण डा. तृप्ति बहुगुणा, मुख्य कार्यकारी अधिकारी पीएमजीएसवाई एवं एमडी पेयजल निगम उदय राज सिंह, मुख्य अभियंता राष्ट्रीय राजमार्ग एस. के बिरला, संयुक्त खाद्य आयुक्त पी.एस. पांगती, जीएम उत्तराखंड जल संस्थान आर.के. रोहिल्ला, एस.के.पाठक, अतुल कुमार, एन.एस. बिष्ट, के. मेहता, बी.के.यादव, अमित जोशी, रवि शंकर यादव, मनोज रावत, राजेश फोनिया, सोम प्रकाश कन्नौजिया, रईस अहमद, आर.के.पांडे, सुरेश चंद पांडे आदि अधिकारी उपस्थित रहे ।

RELATED ARTICLES

Leave a reply

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
- Advertisment -
- Advertisment -
- Advertisment -
- Advertisment -
- Advertisment -

Most Popular

- Advertisment -

Recent Comments

error: Content is protected !!