प्रसिद्ध साहित्यकार व बहुमुखी प्रतिभा के धनी उर्मिल थपलियाल नहीं रहे

0
888
प्रसिद्ध साहित्यकार व बहुमुखी प्रतिभा के धनी उर्मिल थपलियाल नहीं रहे

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ को अपनी कर्म स्थली बनाने वाले उत्तराखण्ड के मूल निवासी प्रसिद्ध साहित्यकार, लेखक, स्तम्भकार, व्यंग्यकार, नाट्यकर्मी व बहुमुखी प्रतिभा के धनी उर्मिल थपलियाल के निधन से साहित्य जगत को अपूर्णीय क्षति हुई है।

बहुमुखी प्रतिभा के धनी, लेखक, निर्देशक डॉ. उर्मिल थपलियाल का आज मंगलवार की शाम करीब 5.30 बजे लखनऊ स्थित आवास में निधन हो गया। 

हिंदी साहित्य के साथ साथ पर्वतीय आंचलिक संस्कृति के संवाहक तथा समाज की ज्ज्वलंत समस्याओं पर अपनी पैनी कलम चलाने वाली राष्ट्रीय विभूति के निधन से साहित्य जगत में शोक की लहर है। उन्होंने अपनी लेखनी की प्रतिभा से राष्ट्रीय स्तर पर पहचान स्थापित की थी। देश के प्रमुख समाचार पत्र पत्रिकाओं में उनके नियमित रूप से आलेख प्रकाशित होते रहे हैं।

श्रीनगर गढ़वाल से प्रकाशित होने वाली पत्रिका रीजनल रिपोर्टर के स्थायी व्यंग्य स्तम्भ ‘टिकली बकम बम्म’ के जरिये प्रदेश की राजनैतिक सामाजिक व शैक्षणिक व्यवस्था पर तंज कसने वाले चुटीले हास्य सम्राट के निधन पर हिमालय साहित्य एवं कला परिषद् शोक व्यक्त करते हुए अश्रुपूर्ण श्रृद्धांजलि अर्पित करती है। प्रसिद्ध कवि नीरज नैथानी ने उनके निधन पर गहरा दुःख प्रकट किया है। 

Leave a reply

Please enter your comment!
Please enter your name here