देहरादून। आईजी गढ़वाल की सरकारी कार का इस्तेमाल कर पुलिस लूटकांड के आरोपी पुलिसकर्मियों के खिलाफ जांच पूरी हो गई है। बताया जा रहा है कि जांच में एक सब इंस्पेक्टर और दो कांस्टेबल को दोषी पाया गया है। जांच पूरी होने पर अब उनके खिलाफ बड़ी कार्रवाई हो सकती है, फिलहाल तीनों आरोपी निलंबित चल रहे हैं। हालांकि, डीआईजी का कहना है कि अभी वह जांच रिपोर्ट का परीक्षण कर रहे हैं।

बहुचर्चित यह घटना चार अप्रैल 2019 की रात्रि की है और उस समय लोकसभा चुनाव चल रहे थे। एक प्रॉपर्टी डीलर ने तीन पुलिसकर्मियों और एक कांग्रेस नेता के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया था। आरोप लगाया कि उसे एक सफेद रंग की स्कॉर्पियो कार सवार पुलिसकर्मियों ने रोका और खुद को चुनाव स्टेटिक टीम बनकर रुपयों से भरा बैग उससे लिया और स्कॉर्पियो में रखकर फरार हो गए। मामले में जब प्राथमिक जांच हुई तो सीसीटीवी कैमरों के आधार पर तीनों पुलिसकर्मियों की पहचान सब इंस्पेक्टर दिनेश नेगी, सिपाही मनोज अधिकारी और हिमांशु उपाध्याय के रूप में हुई।

इनके खिलाफ डालनवाला थाने में मुकदमा दर्ज हुआ। इसके बाद जांच एसटीएफ को सौंपी गई। एसटीएफ ने तीनों पुलिसकर्मियों और कांग्रेसी नेता अनुपम शर्मा को गिरफ्तार किया। कांग्रेसी नेता पर आरोप था कि उसने इन पुलिसकर्मियों का इस घटना में पूरा-पूरा साथ दिया था। हालांकि, एसटीएफ लूटी गई रकम बरामद नहीं कर पाई थी। एसटीएफ ने पूछताछ और सीसीटीवी फुटेज के आधार पर मिले सुबूतों के आधार पर चारों के खिलाफ चार्जशीट दाखिल की थी।

इधर, इस मामले में एसपी देहात देहरादून को पुलिसकर्मियों के खिलाफ विभागीय जांच सौंपी गई थी। अब यह जांच पड़ताल पूरी हो चुकी है, जिसकी रिपोर्ट उन्होंने डीआईजी अरुण मोहन जोशी को सौंप दी है। सूत्रों के मुताबिक जांच में तीनों पुलिसकर्मी दोषी पाए गए हैं। ऐसे में मुख्यालय इनके खिलाफ अब बड़ी कार्रवाई कर सकता है। निलंबन पहले से चल रहा है। माना तो यह भी जा रहा है कि तीनों के खिलाफ बर्खास्तगी की कार्रवाई भी हो सकती है।

घटना का विवरण

4 अप्रैल 2019 की रात्रि को आरोपी तीनों पुलिसकर्मियों ने तत्कालीन आईजी गढ़वाल रेंज अजय रौतेला की कार का इस्तेमाल किया था। उन्होंने राजधानी देहरादून के राजपुर रोड स्थित एक होटल के पास इस घटना को अंजाम दिया था। इसके बाद से लगातार पुलिस विभाग मामले की जांच कर रहा था। एक बार सेमी ज्यूडिशियल टीम ने भी जांच कर तीनों पुलिसकर्मियों को दोषी पाया था।

डीआईजी देहरादून अरुण मोहन जोशी ने बताया कि जांच पूरी हो गई है। एसपी देहात की रिपोर्ट प्राप्त हो गई है और इसका परीक्षण किया जा रहा है। जल्द आगे की कार्रवाई के लिए रिपोर्ट को अगले स्तर पर पहुंचाया जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here