हरेला पर्वः वानिकी महाविद्यालय रानीचौरी में किया गया विभिन्न प्रजातियों का वृक्षारोपण

0
804
हरेला पर्वः वानिकी महाविद्यालय रानीचौरी में किया गया विभिन्न प्रजातियों का वृक्षारोपण

नई टिहरी। वानिकी महाविद्यालय रानीचौरी एवं कृषि विज्ञान केन्द्र के संयुक्त तत्वधान में हरियाली पर्व हरेला के अवसर पर रानीचौरी परिसर में विभिन्न प्रजाति के वृक्षों का विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो0 अजीत कुमार कर्नाटक के आनलाइन मार्गदर्शन में वृक्षारोपण किया गया।

इस अवसर पर प्रभारी अधिष्ठाता डा0 एस0 पी0 सती ने हरेला पर्व के महत्व एवं परम्परा के बारे में विस्तृत जानकारी दी एवं वृक्षारोपण किया। विश्वविद्यालय के निदेशक शोध डा0 अमोल वशिष्ठ ने वृक्षारोपण कर हरेला पर्व का प्रकृति के संरक्षण के महत्च पर प्रकाश डाला।

Uttarakhand Weather: चार जिलों में भारी वर्षा होने का अनुमान

विश्वविद्यालय के निदेशक शिक्षा एवं सह-निदेशक प्रसार डा0 अरविन्द बिजल्वाण ने वृक्षारोपण कर हरेला पर्व को पर्यावरण संरक्षण, खुशहाली और समृद्धि का प्रतीक बताया। इस अवसर पर वानिकी महाविद्यालय रानीचौरी के संकाय सदस्य, वैज्ञानिक एवं कार्मिकों ने हरेला वृक्षारोपण में प्रतिभाग किया एवं अपने द्वारा लगाये गये पौधों की देखरेख की जिम्मेदारी भी ली।

हरेला वृक्षारोपण पर्व के अवसर पर वानिकी महाविद्यालय के संकाय सदस्य एवं वैज्ञानिकगण डा0 लक्ष्मी रावत, डा0 अजय यादव, डा0 आलोक येवले, डा0 चतर सिंह धनाई, डा0 अजय पालीवाल, डा0 राजेन्द्र सिंह बाली, डा0 राजेश बिजल्वाण, इन्द्र सिंह, डा0 दीपा रावत, डा0 बीएस बुटोला, डा0 अरूणीमा पालीवाल, डा0 योगेश कुमार नेगी, ई0 पदम सिंह, डा0 मनोज कुमार रियाल, नवीन तड़ियाल एवं कार्मिक हेमानन्द भट्ट, नरेश नेगी, श्री मुकेश कोठारी, अनूप उनियाल, विकास भट्ट, संजय मंमगाई, सुभाष उनियाल आदि कार्मिकों ने हरेला वृक्षारोपण में बढ़ चढकर प्रतिभाग किया।

Leave a reply

Please enter your comment!
Please enter your name here