उत्तराखंड उच्च शिक्षा विभाग द्वारा पॉलीटेक्निक संस्थानों में कार्यरत आउटसोर्स कर्मचारियों को निकालने की बात कही गई है। बताया जा रहा है की संस्थानों द्वारा आउटसोर्स कर्मचारियों की कमी के कारण इसकी शिकायत उच्च शिक्षा विभाग को की गई । पॉलिटेक्निक संस्थानों में आउटसोर्स कर्मचारियों ने अपनी अनुबंध अवधि पूरी कर ली है। उत्तराखंड उच्च शिक्षा विभाग द्वारा आउटसोर्स कर्मचारियों की अनुबंध अवधि पूरी होने पर कर्मचारियों के अनुबंधों को नवीनीकृत नहीं करने का निर्णय ले लिया गया था।

उत्तराखण्ड उच्च शिक्षा विभाग द्वारा बताया गया है की राज्य में करीब में 2.75 लाख विद्यार्थी पॉलिटेक्निक संस्थानों से विभिन्न पाठ्यकर्मो की उच्च शिक्षा प्राप्त कर रहे है। प्रदेश में करीब 24 विश्वविद्यालयों, 70 राजकीय महाविद्यालयों, 15 अनुदानित महाविद्यालयों, तथा 266 निजी शिक्षण संस्थान हैं, जिनमे सामान्य, व्यावसायिक व तकनीकी शिक्षा से सम्बंधित विभिन्न पाठ्यकर्म है।

उत्तराखंड प्रदेश में भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान जो की रुड़की, राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान जो श्रीनगर गढ़वाल तथा भारतीय प्रबन्ध संस्थान जो की काशीपुर में संचालित हैं। उत्तराखण्ड राष्ट्रीय विधि विश्वविद्यालय की स्थापना के लिए वर्ष 2011 में अधिनियम पारित किया गया है जिसकी स्थापना भविष्य में की जानी प्रस्तावित है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here