6 C
New York
Tuesday, June 22, 2021
Homeहमारा उत्तराखण्डउत्तराखण्ड में निजी बसों का संचालन जल्द

उत्तराखण्ड में निजी बसों का संचालन जल्द

यदि सब कुछ ठीक रहा तो जल्द ही उत्तराखण्ड में निजी बसें फिर से चलनी शुरू हो जाएंगी। इस बारे में आज उत्तराखंड बस ऑपरेटर्स महासंघ से सरकार के प्रवक्ता एवं कृषि मंत्री सुबोध उनियाल की वार्ता हुई, जो कि सकारात्मक रही। महासंघ की मांग के अनुरूप आज ही शासनादेश जारी हो सकता है।

उल्लेखनीय है कि कोविड कर्फ्यू के बाद निजी बसों के मालिक 50 फीसदी यात्री क्षमता से बस संचालन में असमर्थता जता रहे थे। उनका कहना था कि कोरोना लॉकडाउन की तरह इस बार भी उन्हें 50 फीसदी यात्री क्षमता के साथ दोगुना किराया वसूलने का मौका दिया जाए।

इस पर सरकार ने मनाही कर दी थी। जिसके बाद दो मई से गढ़वाल और कुमाऊं में इन बसों का संचालन ठप हो गया था। इस बीच कई बार सरकार से वार्ता करने के प्रयास हुए, लेकिन सफलता नहीं मिली। बीते रोज बस ऑपरेटर्स महासंघ का शिष्टमंडल सरकार के प्रवक्ता एवं मंत्री सुबोध उनियाल से मिला। उन्होंने उनके सामने दूसरा प्रस्ताव यह रखा कि उन्हें 50 के बजाय 75 प्रतिशत यात्री क्षमता और रोडवेज बसों जितना किराया वसूलने की अनुमति दी जाए।

क्योंकि रोडवेज और इन बसों के किराये में करीब 20 से 30 पैसे प्रति किलोमीटर का अंतर है। इस पर मंत्री उनियाल ने मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत से वार्ता की। वार्ता के बाद सरकार इस बात पर राजी हो गई कि निजी बस ऑपरेटर्स 75 प्रतिशत सवारियों के साथ ही डेढ़ गुना किराया वसूल सकेंगे। बस ऑपरेटर महासंघ के ने बताया कि जैसे ही सरकार से शासनादेश जारी होगा, वैसे ही बसों का संचालन पुनः प्रारंभ कर दिया जाएगा।

RELATED ARTICLES

Leave a reply

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

- Advertisment -

Recent Comments

error: Content is protected !!