उत्तरकाशी। देश व्यापी लॉकडाउन के बीच आज जिले के मुखबा गांव से मां गंगा की डोली अपने ग्रीष्मकालीन पूजा स्थल गंगोत्री धाम को रवाना की गई। मां गंगा की डोली रवाना करने की रस्म के समय शारीरिक दूरी समेत सभी आवश्यक कायदे-कानूनों का पालन किया गया।

मां गंगा के शीतकालीन प्रवास मुखबा से गंगा की डोली ने पूरे विधि-विधान के साथ गंगोत्री धाम के लिए प्रस्थान किया। आज पहले दिन मां गंगा की डोली भैरवघाटी स्थित भैरव मंदिर में रात्रि विश्राम करने के बाद 26 अप्रैल को प्रात: गंगोत्री धाम पहुंचेगी। डोली के गंगोत्री धाम पहुंचने पर परंपरा के अनुसार गंगा पूजन एवं विशेष पाठ-पूजा के उपरांत वैदिक मंत्रोच्चार के बीच रोहिणी अमृत योग की शुभ अवसर पर दिन में 12.35 बजे सादगी के साथ धाम के कपाट ग्रीष्मकाल को श्रद्धालुओं के दर्शनाथ खोल दिए जाएंगे।

कोरोना महामारी को देखते हुए इस बार बेहद ही सादगी के साथ मां गंगा की डोली को एसडीएम भटवाड़ी देवेंद्र सिंह नेगी की उपस्थिति में धाम के तीर्थ पुरोहितों के द्वारा रवाना किया गया। इस अवसर पर कोई भी श्रद्धालु मौजूद नहीं रहे। इस मौके पर मुखबा गांव व तीर्थ पुरोहितों द्वारा शारीरिक दूरी का पालन किया गया। मन्दिर समिति के अध्यक्ष सुरेश सेमवाल, के अलावा मंदिर समिति के पदाधिकारी व तीर्थ पुरोहित उपस्थित रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here