धार्मिक संस्थान से जुड़े एक केंद्र में छात्र की रहस्यमयी मौत

0
530
धार्मिक संस्थान से जुड़े एक केंद्र में छात्र की रहस्यमयी मौत

उत्तराखंड की राजधानी देहरादून में धार्मिक संस्थान से जुड़े एक केंद्र में छात्र की रहस्यमयी मौत से सनसनी फैल गई है। मामला शहर के राजपुर रोड स्थित साई मंदिर के पास मौजूद एक धार्मिक केंद्र का है। जहां शनिवार को एक छात्र का शव कमरे में फंदे से लटका मिला।

मृतक मूल रूप से नेपाल का निवासी है और वह यहां रहकर बौद्ध धर्म की दीक्षा ले रहा था। मौके से पुलिस को सुसाइड नोट बरामद नहीं हुआ है। वहीं अभी मौत के कारणों का भी पता नहीं चल पाया है। एसओ राजपुर ने बताया कि संस्थान के लोगों के अनुसार मृतक की दिमागी हालत सही नहीं थी। वह यहां बौद्ध धर्म की दीक्षा ले रहा था।

बता दें कि इससे पहले 30 अक्टूबर को भी एक शिक्षक की आत्महत्याा के बाद संस्थान चर्चाओं में आया था। उस वक्त बताया गया था कि कुछ छात्र पुरुकुल स्थित इस एकेडमी से भागकर नेपाल चले गए थे। वहां पर उन्होंने मार-पिटाई के संबंध में एक वीडियो और फोटो वायरल की थी।

इसी बीच उक्त शिक्षक ने फांसी लगा ली थी। मामले में तत्कालीन कप्तान ने जांच भी कराई थी, लेकिन उसका अभी तक कोई नतीजा नहीं निकल सका था। अब फिर आज शनिवार को इसी संस्थान से जुड़ा मामला आने के बाद संस्थान एक बार फिर विवादों में आ गया है।

विगत 30 अक्टूबर को बच्चों की पिटाई के मामले में विवादों से घिरे धार्मिक स्कूल के एक शिक्षक का शव कमरे में पंखे से लटका मिला था। 25 वर्षीय शिक्षक वहां बौद्ध शास्त्र पढ़ाते थे। शिक्षक के कमरे से एक सुसाइड नोट भी बरामद हुआ था।

इसमें उन्होंने अपने गुरुजी की बदनामगी से आहत होकर आत्महत्या करना बताया था। इसके साथ ही मना करने के बावजूद उन्होंने अपने पास मोबाइल फोन और सिम होने पर आत्मग्लानी होने का जिक्र सुसाइड नोट में किया था। राजपुर के पुरुकुल गांव रोड स्थित यह स्कूल 27 अक्टूबर को चर्चाओं में आया था।

सोशल मीडिया में खबर फैली थी कि यहां कुछ बच्चों की पिटाई इस वजह से कर दी गई है कि उन्हें घर जाने के लिए छुट्टी मांगी थी। आरोप यह भी था कि कुछ बच्चों के नाखून तक खींच दिए गए। सूचनाओं का संज्ञान लेते हुए डीआईजी ने इसकी जांच एसपी क्राइम लोकजीत सिंह को सौंपी थी। अभी जांच चल ही रही थी कि यहां एक शिक्षक के फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली।

Leave a reply

Please enter your comment!
Please enter your name here