देहरादून। लॉकडाउन की वजह से चण्डीगढ़ एवं पंजाब के मोहाली में फंसे उत्तराखण्ड वासियों की सुध लेने वाला कोई नहीं है। बीते दो रोज से प्रवासी लोग यहां पर बसों की इंतजारी कर रहे हैं, लेकिन अभी तक न तो कोई बस ही पहुंची और न ही प्रवासियों को राज्य सरकार की ओर से कोई संदेश ही मिला। ऐसे में अभी इन लोगों के पास न तो खाने की व्यवस्था ही है और न ही सिर छुपाने के लिए कोई जगह। यहां फंसे सभी प्रवासी लोगों ने उत्तराखण्ड सरकार से जल्द पर्याप्त संख्या में बस भिजवाने की मांग की है।

यहां पर फंसे टिहरी जनपद के मुकेश रमोला जिनका मोबाइल नंबर है (7087986207) ने बताया कि यहां फंसे लोगों के द्वारा पूर्व में ही उत्तराखण्ड सरकार द्वारा जारी पोर्टल पर घर वापसी के लिए पंजीकरण कराया गया था। इसके बाद अभी कुछ दिन पहले सरकार द्वारा कुछ बसें भेजी गई लेकिन उसके बाद फिर यहां प्रवासी लोगों के लिए कोई व्यवस्था नहीं की गई। उन्होंने बताया कि अकेले मोहाली में उत्तराखण्ड के चमोली, टिहरी एवं पौड़ी आदि के करीब 300 से अधिक प्रवासी लोग फंसे हुए हैं जिनकी सुध लेने वाला कोई नहीं है। बताया कि प्रवासी लोगों के साथ छोटे-छोटे बच्चें भी हैं जिनके सिर छुपाने के लिए कोई जगह नहीं है। पंजाब सरकार भी कोई मदद नहीं कर पा रही है।

मोहाली में फंसे सुनील कुमार, धनपाल कुमार, रीना देवी, पंकज, संजय आदि ने बताया कि अन्य राज्यों उत्तर प्रदेश एवं जम्मू आदि के प्रवासी लोगों को ले जाने के लिए वहां की सरकारों द्वारा लगातार बसें भेजी जा रही हैं, लेकिन उत्तराखण्ड सरकार की ओर से कोई व्यवस्था नहीं की जा रही है। बताया कि पिछले दो दिनों से बगैर खाने-पीने के लोग यहां पर बसों की प्रतीक्षा में खड़े हैं।

यहां फंसे प्रवासी लोगों में शामिल राजेन्द्र कुमार, अजय दत्त, गोविन्द सिंह एवं विनोद कुमार आदि ने बताया कि बस उपलब्ध न होने के बाद उत्तराखण्ड सरकार द्वारा जारी हेल्पलाइन नंबरों पर भी बातचीत की गई, लेकिन वहां से भी कोई राहत नहीं मिली। बताया कि यहां पर अधिकांश लोग ऐसे भी हैं जिन्होंने कामकाज न होने के चलते किराए के कमरे भी खाली कर दिए हैं।

यहां पर फंसे सभी लोगों ने उत्तराखण्ड सरकार से अविलंब पर्याप्त संख्या में बसें उपलब्ध कराने की मांग की है, जिससे उनकी सुरक्षित घर वापसी हो सके।

पढ़े- लॉकडाउन: विभिन्न हिस्सों में फंसे लोग उत्तराखण्ड 
वापसी के लिए करें इस लिंक पर पंजीकरण

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here