15.6 C
Dehradun
Monday, December 6, 2021
Homeहमारा उत्तराखण्डदेव गुरु बृहस्पति का हो रहा है राशि परिवर्तन, जानें सभी राशियों...

देव गुरु बृहस्पति का हो रहा है राशि परिवर्तन, जानें सभी राशियों पर क्या पड़ेगा इसका असर

  • सौरमंडल के नवग्रहों में सबसे बड़ा ग्रह देव गुरु बृहस्पति का हो रहा है राशि परिवर्तन
  • मकर राशि से शनि की मूलत्रिकोण राशि कुंभ राशि में 5 महीने करेंगे संचरण
  • सभी राशियों के लोगों पर पड़ेगा इसका अलग-अलग असर

सौरमंडल के नवग्रहों में सबसे बड़े ग्रह देवगुरु बृहस्पति का आज रात राशि परिवर्तन होने जा रहा है। उत्तराखंड ज्योतिष रत्न आचार्य डॉक्टर चंडी प्रसाद घिल्डियाल सूक्ष्म ज्योतिषीय गणना करके बताते हैं कि ब्रह्मांड का सबसे बड़ा ग्रह आज रात करीब 1 बजकर 50 मिनट पर शनि के स्वामित्व वाली शनि की मूल त्रिकोण राशि कुंभ राशि में प्रवेश करेगा। गुरु 14 सितंबर तक यहां पर संचरण करेंगे गुरु की चाल बदलते ही सभी राशियों पर इसका असर देखने को मिलेगा।

मेष- मेष राशि के जातकों को व्यापार संबंधी लाभ होंगे। रचनात्मक कार्यों से जुड़े लोगों की तरक्की होगी। शादीशुदा जातकों को अच्छे फलों की प्राप्ति हो सकती है। संतान प्राप्ति के पूर्ण योग बन रहे हैं हालांकि जिन जातकों की कुंडली में बृहस्पति कमजोर है, उन्हें प्रतिकूल फलों की प्राप्ति होगी। आर्थिक मामलों मैं छिटपुट परेशानियां आ सकती हैं। स्वास्थ्य की दृष्टि से आपको अपने स्वास्थ्य पर अधिक खर्च करना पड़ सकता है।

वृषभ- यह अवधि करियर के लिहाज से आपकी राशि के लिए बहुत अच्छी नहीं है. लोन या कर्ज मुश्किलें बढ़ा सकते हैं. अपनी वर्तमान नौकरी को जारी रखें और उन धैर्य व संयम बरतें. आपकी छवि खराब होने की भी संभावना है. पैतृक संपत्ति से लाभ मिल सकता है. सेहत के लिहाज से देखा जाए तो मौसमी परिवर्तनों के कारण आपको स्वास्थ्य संबंधी मामूली समस्याएं हो सकती हैं.

मिथुन- बृहस्पति यात्रा, आध्यात्मिकता और भाग्य के नौवें घर में गोचर करेगा. ये करियर और व्यवसाय के लिए बहुत अच्छा समय लेकर लाएगा. नए अवसरों के आपके जीवन में आने की संभावना है. विशेषकर सरकारी नौकरियों के लिए प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी करने वालों को अच्छे परिणाम मिल सकते हैं. आर्थिक रूप से, यह गोचर अवधि शुभ होगी, क्योंकि बैंकिंग और फाइनेंशियल काम करने वाले पेशेवर निवेश करके अच्छा लाभ कमा सकते हैं.

कर्क- लाभ-हानि के आठवें घर में गुरु का गोचर करियर, वित्त और रिश्तेनातों पर असर डालेगा. करियर में प्रगति का मौका मिल सकता है. नौकरी की तलाश कर रहे लोगों को नए अवसर मिल सकते हैं. विवाहित जातक अपने साथी के साथ अच्छा समय बिताते नजर आ सकते हैं. आर्थिक रूप से गोचर की यह अवधि कुछ समस्याओं का कारण बन सकती है, इसलिए आपको यह सलाह दी जाती है कि कोई भी महत्वपूर्ण निवेश करने से पहले वरिष्ठों से उचित मार्गदर्शन लें. सेहत का भी ख्याल रखें।

सिंह- विवाह और साझेदारी के सातवें घर में बृहस्पति का गोचर सकारात्मक परिणाम लाएगा. कार्य क्षेत्र में ईमानदारी से किए गए प्रयास लक्ष्य को जल्द हासिल करने में मदद करेंगे. कोई भी निवेश करना आपके लिए उचित नहीं है. विवाहित जोड़ों को सलाह दी जाती है कि अच्छे संबंध विकसित करने के लिए तर्क-वितर्क करने से बचें. जो लोग प्रेम संबंधों में हैं उनके लिए यह समय काफी अच्छा रहने की उम्मीद है. स्वास्थ्य के मोर्चे पर जातकों को अनुकूल परिणाम प्राप्त होने की संभावना है.

कन्या- कन्या राशि के जातकों के लिए बृहस्पति ऋण, प्रतिस्पर्धा और शत्रुओं के छठे भाव में गोचर करता है. इस अवधि के दौरान आपको मिश्रित परिणाम मिलेंगे. इस राशि के नौकरी पेशा जातकों को जल्दबाजी में इस्तीफा नहीं देना चाहिए, क्योंकि उन्हें इसके बाद अच्छे अवसर मिलने की संभावना कम है. दीर्घकालिक निवेश के लिए जून और जुलाई के महीने ही आपके लिए सबसे ज्यादा अनुकूल रहेंगे. दांपत्य जीवन में इस दौरान सकारात्मक बदलाव देखने को मिलेंगे.

तुला- बृहस्पति का गोचर शिक्षा, प्रेम और रोमांस के पांचवें घर में होगा. यह अवधि आपको मिश्रित परिणाम देगी. व्यावसायिक और नौकरीपेशा लोगों को कड़ी मेहनत करते रहने का सुझाव दिया जाता है. किसी भी स्थिति में आप हार न मानें क्योंकि मई और जून में आपको बड़े अवसर मिल सकते हैं. तुला राशि के जातकों के लिए अच्छी नीतियों में निवेश करने के लिए यह अनुकूल समय है. हालांकि कुछ अनावश्यक खर्चे भी हो सकते हैं. रिलेशनशिप को लेकर तुला राशि वाले सावधान रहें.

वृश्चिक- बृहस्पति विलासिता, आराम और अचल संपत्ति के चौथे भाव में गोचर करेगा और आपको अनुकूल परिणाम देगा. पढ़ाई के लिए विदेश जाने के अच्छे अवसर मिल सकते हैं. जून और जुलाई में अवसरों की तलाश में लगे नौकरीपेशा लोगों को सफलता मिल सकती है. सरकारी परीक्षा में बैठने वाले छात्रों को अनुकूल परिणाम मिलेंगे. आर्थिक रूप से यह अवधि आपको अनुकूल परिणाम देगी. पारिवारिक व्यवसाय में निवेश करने के लिए भी यह समय अच्छा रहेगा. साझेदारी के व्यवसाय में इस राशि वालों को अधिक लाभ प्राप्त हो सकता है.

धनु- बृहस्पति आपकी राशि का भी स्वामी है इसलिए इसका यह गोचर यात्राओं, संचार और भाई-बहनों के तृतीय भाव में होगा. छात्रों को परीक्षा पास करने के लिए अतिरिक्त मेहनत करनी पड़ सकती है. नौकरी करने वाले इस राशि के जातकों को इस दौरान उन्नति मिल सकती है. आपको बड़ा निवेश करने से पहले किसी अनुभवी व्यक्ति से सलाह अवश्य लेनी चाहिए. स्वास्थ्य पर नजर डाली जाए तो आपको अपने स्वास्थ्य की उचित देखभाल करने की सलाह दी जाती है.

मकर- बृहस्पति परिवार, वाणी और संचित धन के दूसरे भाव में गोचर कर रहा है. यह अवधि आपके भाग्य का उत्थान करेगी और आपके धन में वृद्धि करेगी. आप अपने कार्यक्षेत्र में अधिक सकारात्मकता और ध्यान केंद्रित कर सकते हैं, जिससे आपको अच्छे फल भी प्राप्त होंगे. इस राशि के नौकरीपेशा लोगों के लिए कुल मिलाकर समय अच्छा रहेगा. आपको उस क्षेत्र में काम करने का मौका मिल सकता है जिसे आप सबसे अधिक प्यार करते हैं. आपको अपनी कड़ी मेहनता का पुरस्कार अप्रैल और जुलाई के दौरान मिल सकता है और इससे आने वाले समय के लिए भी नए रास्ते खुल सकते हैं. कैरियर में नई उन्नति मिल सकती है

कुंभ- बृहस्पति का गोचर इस राशि के लोगों के लग्न भाव में होगा. कुंभ राशि के जातकों को मिले-जुले परिणाम मिलेंगे. यह राशि परिवर्तन आपके लक्ष्यों को पूरा करने में मदद कर सकता है. पेशेवर लोगों के लिए यह गोचर अच्छा रहेगा. खासकर अप्रैल और जुलाई के महीनों में आपको तरक्की मिल सकती है. सरकारी नौकरी के लिए आवेदन करने वाले छात्रों को सफलता मिलने के ज्यादा आसार हैं. अविवाहित जातकों को जून और सितंबर के दौरान अच्छा विवाह प्रस्ताव मिल सकता है. स्वास्थ्य को लेकर इस राशि के जातकों को थोड़ा सावधान रहने की जरूरत है.

मीन- मीन राशियों के लिए बृहस्पति विदेश, व्यय और मोक्ष के द्वादश भाव में गोचर करेगा. द्वादश भाव में बृहस्पति के गोचर से मीन राशि के लोगों को सकारात्मक परिणाम मिलेगा. नौकरी बदलने की योजना बना रहे जातकों को सफलता मिलेगी. प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी कर रहे छात्रों को अनुकूल परिणाम मिल सकते हैं. व्यवसाय करने वाले जातकों को व्यापार का विस्तार करने का अवसर मिलेगा. हालांकि आपको अनावश्यक खर्च का सामना करना पड़ सकता है. यह अवधि आपको उधार दिए गए धन या अटके हुए धन को प्राप्त करने में मदद करेगी।

ज्योतिष वैज्ञानिक डॉक्टर चंडी प्रसाद घिल्डियाल आगे बताते हैं कि सिर्फ बृहस्पति का ही सब राशियों पर असर नहीं पड़ेगा अन्य ग्रह गोचर में बदलते रहते हैं उनका भी असर होता है इसलिए शुक्र मंगल बुद्ध जैसे ग्रह जो जल्दी राशि परिवर्तन करते हैं बीच-बीच में कुंडली में जिस स्थिति में होंगे उस हिसाब से लोगों को सकारात्मक और नकारात्मक फलों की प्राप्ति होगी।

आचार्य का परिचय
नाम-आचार्य डॉक्टर चंडी प्रसाद घिल्डियाल
पब्लिक सर्विस कमीशन उत्तराखंड से चयनित प्रवक्ता संस्कृत।
निवास स्थान- धर्मपुर चौक के पास अजबपुर रोड पर मोथरोवाला टेंपो स्टैंड 56 / 1 धर्मपुर देहरादून, उत्तराखंड।
मोबाइल नंबर-9411153845
उपलब्धियां
वर्ष 2015 में शिक्षा विभाग में प्रथम गवर्नर अवार्ड से सम्मानित वर्ष 2016 में। सटीक भविष्यवाणी पर उत्तराखंड के तत्कालीन मुख्यमंत्री हरीश रावत सरकार ने दी उत्तराखंड ज्योतिष रत्न की मानद उपाधि। त्रिवेंद्र सरकार ने दिया ज्योतिष विभूषण सम्मान। वर्ष 2013 में केदारनाथ आपदा की सबसे पहले भविष्यवाणी की थी। इसलिए 2015 से 2018 तक लगातार एक्सीलेंस अवार्ड प्राप्त हुआ। ज्योतिष में इस वर्ष 5 सितंबर 2020 को प्रथम वर्चुअल टीचर्स राष्ट्रीय अवार्ड प्राप्त किया। वर्ष 2019 में अमर उजाला की ओर से आयोजित ज्योतिष महासम्मेलन में ग्राफिक एरा में उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने दिया ज्योतिष वैज्ञानिक सम्मान।

RELATED ARTICLES

Leave a reply

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
- Advertisment -
- Advertisment -
- Advertisment -
- Advertisment -
- Advertisment -

Most Popular

- Advertisment -

Recent Comments

error: Content is protected !!