खटीमा। रविवार सुबह आज एक तेंदुआ तार बाड़ के बीच फंस गया। सूचना मिलते ही कुछ ही देर में तेंदुए को देखने के लिए ग्रामीणों की भीड़ पास के खेतों में जमा हो गई।

यह घटना उत्तराखंड के टनकपुर में तराई पूर्वी वन प्रभाग के खटीमा रेंज के जंगल से लगे छीनीगोठ गांव में आज सुबह सामने आई। आज सुबह करीब सात बजे ग्रामीणों ने खटीमा और छीनीगोठ रेंज को सूचना दी कि गांव के पास तारबाड़ में एक तेंदुआ फंसा हुआ है। जिस पर दोनों रेंजों के वन कर्मियों की टीम तुरंत मौके पर पहुंची।

जांच के दौरान पता लगा कि खेत के पास बने तार के फंदे में गुलदार फंसा हुआ है। उसके ऊपर पेड़ की टहनी भी गिरी हुई है। क्षेत्राधिकारियों ने बताया कि नुकिली तारें तेंदुए के शरीर में गड़ गई हैं। इस वजह से तेंदुआ काफी दहाड़ भी रहा है।
तेंदुए की आवाज सुनकर गांव से बड़ी संख्या में लोग खेत पहुंचे। वहीं, उसकी दहाड़ सुनकर कुछ ग्रामीण दहशत की वजह से वहां से भाग निकले। भीड़ को नियंत्रित करने के लिए मौके पर पुलिस फोर्स भी बुलाई गई।

खटीमा रेंज के वन क्षेत्राधिकारी राजेंद्र मनराल और शारदा रेंज के वन क्षेत्राधिकारी महेश सिंह बिष्ट की अगुवाई में वन विभाग की टीम गांव पहुंची है। वहीं, तेंदुए को ट्रेंकुलाइजर गन से बेहोश करने के लिए हल्द्वानी से डॉक्टरों की टीम बुलाई गई है। फिलहाल विभाग की टीम फंदे में फंसे तेंदुए पर निगरानी रखे हुए हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here