देहरादून। नेता प्रतिपक्ष डा0 इंदिरा हृदयेश को उपचार के लिए आज रविवार दोपहर देहरादून से गुरुग्राम स्थित मेदांता अस्पताल के लिए भेजा गया। देहरादून से गुरूग्राम तक राज्य सरकार ने उनके लिए हेलीकॉप्टर की व्यवस्था की।

विदित हो कि बीते शनिवार को हल्द्वानी से कोरोना का उपचार कराने के लिए दून के एक अस्पताल में पहुंचीं नेता प्रतिपक्ष इंदिरा हृदयेश को सरकार एक कमरा तक नहीं दिला पाई थी। इसके पश्चात करीब साढ़े चार घंटे के इंतजार के बाद नाराज इंदिरा अस्पताल से वापस घर लौट आई थीं।

इंदिरा हृदयेश की कोरोना रिपोर्ट शुक्रवार की देर रात पाजिटिव आई थी। इसके बार नेता प्रतिपक्ष ने दून स्थित मैक्स अस्पताल में उपचार कराना तय किया। बकौल इंदिरा शहरी विकास मंत्री ने मैक्स में बात की और सीएम ने हेलीकॉप्टर भेजा था। मैक्स में पहुंचने पर कहा गया कि आईसीयू में भर्ती किया जा सकता है।

इंदिरा के मुताबिक, आसीयू की उन्हें जरूरत ही नहीं थी। साढ़े चार घंटे के इंतजार के बाद भी उन्हें कमरा नहीं मिल पाया। ऐसे में उन्होंने तय किया कि वह दिल्ली मैक्स या अपोलो में इलाज कराएंगी, जिसके लिए बात भी हो गई है।

——————————

हल्द्वानी। प्रदेश की नेता प्रतिपक्ष डॉ. इंदिरा हृदयेश का स्वास्थ्य अचानक खराब हो गया। मिली जानकारी के अनुसार अभी दो दिन पहले उन्हें कोविड के लक्षण दिखाई दिए। इसके बाद नेता प्रतिपक्ष ने कोरोना जांच के लिए सैंपल दिए थे, जिनकी जांच रिपोर्ट अभी नहीं आई है। फिलहाल उन्हें यहां सुशीला तिवारी अस्पताल में भर्ती कराया गया है। बताया जा रहा है कि जांच में उन्हें निमोनिया की शिकायत मिली है।

सुशीला तिवारी अस्पताल के एमएस डॉ. अरुण जोशी ने बताया कि निमोनिया और सीने के सीटी स्कैन में कुछ बदलाव आए हैं, जिसके बाद उनको प्राइवेट वार्ड में रखा गया है। उनकी हालत अभी स्थिर है। बताया कि उनकी कोविड रिपोर्ट का इंतजार किया जा रहा है।

वहीं दूसरी ओर बताया जा रहा है कि कांग्रेस विधायक हरीश धामी भी एंटीजन टेस्ट में पॉजिटिव मिले हैं। विदित हो कि उत्तराखण्ड में भाजपा कांग्रेस के कई नेता कोरोना की चपेट में आ चुके हैं जबकि कई मंत्री भी कोरोना से अछूते नहीं रहे हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here