देहरादून। पिछले दो दिनों से हो रही भारी वर्षा के चलते हुए भूस्खलन से देहरादून-मसूरी सड़क का लगभग 50 मीटर हिस्सा धंस गया। छोटे वाहनों की आवाजाही तो खोल दी गई है लेकिन, चैपहिया वाहनों की आवाजाही रोक दी गई है। मसूरी-देहरादून मार्ग स्थित पानी वाले मोड पर भूस्खलन की वजह से यह रास्ता बंद है। अवरूद्ध मार्ग को खोलने का प्रयास किया जा रहा है।

इधर, टिहरी बाईपास मार्ग बासा घाट के पास क्षतिग्रस्त हो गया। यह रास्ता लगातार भूस्खलन की चपेट में आने से संकरा हो गया है, जिससे वाहनों के आवगमन में भारी परेशानी हो रही है। लक्ष्मणपुरी में भूस्खलन के बाद मलबा घर के ऊपर आ गिरा, जिससे एक मकान को आंशिक रूप से नुकसान हुआ। मसूरी के पर्यटन स्थल कंपनी गार्डन में भूस्खलन होने से भारी नुकसान हुआ है। इंदिरा कॉलोनी में भूस्खलन के बाद मार्ग बाधित हुआ, वहीं एक मकान भूस्खलन की जद में आ गया। मसूरी कंपनी गार्डन मार्ग पर दो बड़े पेड़ गिरने से मार्ग बाधित होने के साथ बिजली आपूर्ति भी ठप हो गईं।

पहाड़ों में लगातार हो रही बारिश से मसूरी के पास ऐतिहासिक पर्यटन स्थल कैंपटी फॉल का जलस्तर बढ़ गया। सोमवार को कैंपटी फाल ने विकराल रूप धारण कर लिया, जिससे आसपास रह रहे लोगों की मुश्किलें बढ़ गईं। साथ ही यमुना नदी के जलस्तर में भी बढ़ोतरी हुई है। मसूरी कैंपटी फॉल का जलस्तर बढ़ने से आसपास की कई दुकानों में पानी घुस गया, जिससे सामान खराब हो गया। पुलिस और प्रशासन की टीम ने मौके पर पहुंचकर दुकानों और मकानों में रह रहे लोगों को सुरक्षित स्थान पर पहुंचाया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here