ऋषिकेश। यहां नेपाली फार्म में विधानसभा क्षेत्र ऋषिकेश की विभिन्न समस्याओं को लेकर बीते 15 दिनों से आंदोलन कर रहे उत्तराखण्ड जनएकता पार्टी के नेता कनक धनै समेत 30 आंदोलनकारियों को आज पुलिस ने हिरासत में ले लिया। उजपा नेता कनक धनै के नेतृत्व में आंदोलनकारियों ने विधानसभा अध्यक्ष और वर्तमान विधायक प्रेम चंद्र अग्रवाल के बैराज स्थित कैम्प कार्यालय की ओर कूच करने के दौरान पुलिस ने यह कार्रवाई की।

उजपा के इस कार्यक्रम को देखते हुए स्थानीय प्रशासन द्वारा वहां पर भारी पुलिस दल बल तैनात किया गया। इस दौरान पुलिस द्वारा लगाया गया बैरिकेडिंग को तोड़ने का प्रयास करते हुए कनक धनै ने अपने 30 समर्थकों के साथ गिरफ्तारी दी। पुलिस द्वारा उन्हें आईडीपीएल पुलिस चौकी ले जाया गया।

वर्तमान विधायक द्वारा जनता के शांतिपूर्ण प्रदर्शन के प्रति नकारात्मक रवैया देख आक्रोशित जनता ने मुर्दाबाद के नारे भी लगाए। ज्ञात हो कि पिछले 15 दिनों में 30 प्रतिशत कमीशनखोरी और ग्रामीण क्षेत्रों में विकास कार्यो की अवहेलना के चलते उजपा नेता कनक धनै अपने समर्थको के साथ नेपाली फार्म में धरने पर बैठे थे।

उजपा नेता कनक धनै के साथ गिरफ्तारी देने वाले कार्यकर्ताओं में उजपा के जिलाध्यक्ष सोम अरोड़ा, गुरमुख सिंह, राजेश कुमार सोनी, दीपक चैहान, मोहन सिंह सती, संदीप बस्नेट, मनीष रावत, विकास सिंह असवाल, नरेंद्र गुसाई, राम सिंह, कपूर सिंह धनाई, विशाल वर्मा, सूरज यादव, किशन सिंह, अरविंद भट्ट, धीरज सिंह, अमित रावत, शान सिंह रागढ़, हिमांशु पंवार, अंकित बिश्नोई, नितिन पोखरियाल, रोशनी धनाई, हीमा देवी, विमला देवी, रेखा देवी, स्वाति नेगी, सुमित्रा राणा, निर्मला देवी, सावित्री देवी, सुनैना कंडियाल, मनु रावत, पुष्पा देवी शामिल हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here