कैबिनेट मंत्री सुबोध उनियाल ने किया निरीक्षण, पुल का निर्माण हुआ पूरा
ऋषिकेश। आगामी दस नवंबर से जानकी पुल आवाजाही के लिए खोल दिया जाएगा, इसका निर्माण करीब पूरा हो चुका है। शुक्रवार को कैबिनेट मंत्री सुबोध उनियाल भी पुल का निरीक्षण करने यहां पहुंचे। उन्होंने यहां आस्था पथ और घाटों के निर्माण कार्यों का निरीक्षण भी किया।
शुक्रवार को जानकी पुल के निरीक्षण के दौरान लोक निर्माण विभाग के अधिशासी अभियंता मौहम्मद आरिफ खान ने बताया कि फिलहाल पुल में डेक में रंग रोगान का कार्य चल रहा है। शीघ्र ही निर्माण पूरा कर इसे आवाजाही के लिए खोल दिया जाएगा। बताया कि सामान्यतः चार मिनट में पुल के एक छोर से दूसरे छोर तक पैदल पहुंचा जा सकेगा। इस दौरान कैबिनेट मंत्री ने पुल की मजबूती और उसकी क्षमता को लेकर भी अधिकारियों से सवाल किए। इसके बाद उन्होंने पौधरोपण भी किया।

इस मौके पर नगर पालिकाध्यक्ष ढालवाला मुनिकीरेती रोशन रतूड़ी, सिचाई विभाग के अधिशासी अभियंता कमल सिंह, भाजपा मंडल अध्यक्ष राकेश भट्ट, पूर्व मंडल अध्यक्ष राकेश सेंगर, सभासद सुभाष चैहान, शंकर नौटियाल, राजेंद्र थलवाल, कौशल चैहान, रोहित गोडियाल, सचिन रस्तोगी, रणवीर रावत आदि उपस्थित थे।

नोटिफाई होगी खाराश्रोत पार्किंग

खाराश्रोत पार्किंग को पालिका नोटिफाई कर यहां खड़े होने वाले बाहरी वाहनों से राजस्व वसूलेगी। शुक्रवार को कैबिनेट मंत्री सुबोध उनियाल ने पालिकाध्यक्ष रोशन रतूड़ी को खाराश्रोत पार्किंग नोटिफाई करने के निर्देश दिए। उन्होंने बताया कि इससे पालिका के राजस्व में वृद्धि होगी। गौरतलब है कि खाराश्रोत में बड़ी संख्या में बाहरी प्रदेश के वाहन खड़े होते हैं। जिनसे कोई शुल्क नहीं वसूला जाता है।
ने बताया कि वर्ष 2006 में जानकी पुल के कार्य को स्वीकृति मिली थी। वर्ष 2013 में इसका निर्माण कार्य शुरु हुआ, मगर वर्ष 2014 में जानकी पुल तत्कालीन मुख्यमंत्री हरीश रावत की दुर्भावनाओं का शिकार हुआ। इस कारण इस पुल का बजट 48.85 लाख रुपये तक जा पहुंचा था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here