चंपावत। एंटी ह्यूमन ट्रैफिकिंग सेल ने अंतर्राज्यीय महिला तस्करी गिरोह का पर्दाफाश करते हुए मामले में एक नाबालिग को बरामद कर इस कार्य में लिप्त तीन महिला तस्करों को गिरफ्तार किया है। इनमें ऊधमसिंह नगर जिले की दो महिलाओं और बनबसा की एक महिला तस्कर शामिल है।

अंतर्राज्यीय महिला तस्करी गिरोह का खुलासा करते हुए पुलिस अधीक्षक लोकेश्वर सिंह ने बताया कि मंगलवार को एंटी ह्यूमन ट्रैफिकिंग सेल की प्रभारी मंजू पांडेय ने मुखबिर की सूचना पर तीन महिलाओं को गिरफ्तार किया है।

श्री सिंह ने बताया कि मुखबिर से सूचना मिली थी कि खटीमा थाना के सामने इलाहाबाद बैंक के पास रहने वाली राजकुमारी पत्नी सुभाष गौतम और मूल निवासी बौंगा गाय घट्टा, 24 परगना, पश्चिम बंगाल हाल निवास ऊधमसिंह नगर के महाराजपुर किच्छा कंचन मंडल और मीना बाजार थाना बनबसा निवासी सोनम दुबे पत्नी स्व. उत्तम कुमार दुबे लड़कियों से वेश्यावृत्ति कराने और शादी का झांसा देकर लोगों से ठगी करके पैसा कमाने के धंधे में लिप्त हैं।

मुखबिर की इस सूचना पर मंजू पांडेय और उनकी टीम ने रीड्स संस्था एवं मानव अधिकार कार्यकर्ता विनय शुक्ला के साथ ग्राहक बनकर इसके लिए रणनीति बनाई। इसके बाद आरोपियों के यहां पहुंचकर उनसे शादी के नाम चार लाख रुपये में लड़की का सौदा किया।

मानव तस्करी की पुष्टि होने पर मंजू पांडेय के नेतृत्व में पहुंची टीम ने राजकुमारी व उसके गिरोह की दो महिलाओं को मौके से ही गिरफ्तार कर लिया। टीम ने मौके से एक 14 वर्षीय किशोरी को भी बरामद किया गया। जिसे रीड्स संस्था के सुपुर्द किया गया। एसपी ने बताया कि तीनों महिलाओं के खिलाफ थाना टनकपुर में धारा 370(4)/363/366ए/ 420/120बी/ 34 आईपीसी के तहत रिपोर्ट दर्ज की गई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here