International Yoga Festival: ऋषिकेश में 29 वां सात दिवसीय अंतरराष्ट्रीय योग महोत्सव शुरू

0
254
International Yoga Festival: ऋषिकेश में 29 वां सात दिवसीय अंतरराष्ट्रीय योग महोत्सव शुरू

जीएमवीएन गंगा रिजॉर्ट में एक से सात मार्च तक आयोजित होने वाले अंतरराष्ट्रीय योग महोत्सव का शुभारंभ सोमवार को हो गया। उत्तराखंड पर्यटन विभाग व गढ़वाल मंडल विकास निगम द्वारा संयुक्त रुप से आयोजित 29वें सात दिवसीय अंतरराष्ट्रीय योग महोत्सव का शुभारंभ कृषि मंत्री सुबोध उनियाल, पतंजलि आयुर्वेद के महामंत्री आचार्य बालकृष्ण, स्वामी अवधेशानंद, स्वामी नरेंद्रगिरी ने अंतरराष्ट्रीय महोत्सव का शुभारंभ किया।

कृषि मंत्री सुबोध उनियाल ने कहा कि मुनी की रेती व ऋषिकेश ऋषि मुनियों की भूमि होने के कारण योगनगरी के रूप में जानी जाती है। योग का महत्व मनुष्य के अन्दर की बुराइयों को समाप्त कर, अच्छी गतिविधियों को संचालित करना है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने योग को दुनिया में प्रचारित किया है।

पतंजलि योगपीठ के आचार्य बालकृष्ण ने कहा कि कोरोना काल में योग का काफी महत्वपूर्ण स्थान रहा है। योग को लगातार करने से कोई भी बीमारी नहीं आती है। दुनिया की किसी भी दवाई में बीमारी का निदान नहीं है। उसका निदान तो योग में ही है। योग और आयुर्वेद से दुनिया में जीवन के प्रति जागृति लाई जा सकती है।

अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष नरेंद्रगिरी ने कहा कि योग की असली परिभाषा योग आत्मा से परमात्मा को मिलाना है। जिसको करने के लिए अपनी दिनचर्या में परिवर्तन करने की आवश्यकता है।

गढ़वाल मंडल के निदेशक डॉ. आशीष चैहान ने बताया कि भारत सरकार व राज्य सरकार की कोरोना संक्रमण की गाइडलाइन का पालन करते हुए सभी कक्षाओं की व्यवस्थाएं की गई है। जिसके चलते अंतरराष्ट्रीय योग महोत्सव में इस वर्ष 350 से अधिक साधकों ने अपना पंजीकरण कराया।

जीएमवीएन की ओर से महोत्सव की तैयारियां पूरी कर ली गईं हैं। जीएमवीएन गंगा रिजॉर्ट के प्रबंधक राजेंद्र प्रसाद ढौंडियाल ने बताया कि महोत्सव को कोविड-19 के नियमों का पूरी तरह से पालन होगा।

कोरोना के कारण इस बार महोत्सव में विदेशी साधकों की शामिल होने की उम्मीद कम है। देश से भी कम ही साधक इस महोत्सव में प्रतिभाग कर रहे हैं। इस बार 7 मार्च को बॉलीवुड अभिनेत्री शिल्पा शेट्टी साधकों को योग की शिक्षा देंगी। महोत्सव के पहले दिन नवदीप जोशी और ऊषा माता साधकों को योग की शिक्षा देंगे।

अंतरराष्ट्रीय योग महोत्सव का शुरू होने से पहले रविवार को विद्युत सुरक्षा विभाग के जोनल कार्यालय रुडकी से आकर विद्युत सुरक्षा अधिकारी डीपी सिंह ने टीम के साथ सुरक्षा व्यवस्थाओं को जायजा लिया।

गंगा रिजोर्ट में प्रबंधक से विद्युत सुरक्षा के बारे में जानकारी हासिल की। उन्होंने पंडाल का निरीक्षण किया। साथ ही महोत्सव में विद्युत संबंधित लापरवाही को दुरुस्त करने के दिशा निर्देश दिए।

ऋषिकेश में एक से सात मार्च तक योग की गंगा बहेगी, लेकिन गढ़वाल मंडल विकास निगम गंगा रिजॉर्ट में आयोजित होने जा रहा 29वां अंतरराष्ट्रीय योग महोत्सव इस बार बिना विदेशी साधकों के संपन्न होगा।

अंतरराष्ट्रीय विमानन सेवाएं पूरी तरह से न खुलने के कारण इस बार विदेशी साधक महोत्सव में भाग नहीं ले पाएंगे। यही वजह है कि अब तक एक भी विदेशी साधक ने महोत्सव के लिए पंजीकरण नहीं कराया है। बता दें कि हर साल बड़ी संख्या में विदेशी साधक महोत्सव में शामिल होते थे।

Leave a reply

Please enter your comment!
Please enter your name here