गोपेश्वर। अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर रविवार को कोरोना संकट के बीच चमोली जिले से लगे चीन सीमा क्षेत्र में करीब 14000 फीट की ऊंचाई पर देश के जाबांज हिमवीरों ने जब योग किया, तो उनके बुलंद हौसले देखकर हर कोई अचंभित रह गया।

प्रसिद्ध हिमक्रीड़ा स्थल औली स्थित भारतीय पर्वतारोहण एवं स्कीइंग संस्थान आईटीबीपी के जवानों ने आज रविवार को औली के साथ ही ग्लेशियर प्वाइंट, सतोपंथ और वसुधारा में योग शिविर लगाया। आज सुबह छह बजे से ही यहां योगाभ्यास के लिए महिला हिमवीर सहित 108 हिमवीर पहुंच गए थे। शिविर में जवानों ने शारीरिक दूरी के नियमों का पूरी तरह से पालन किया।

उल्लेखनीय है कि आजकल वसुधारा का तापमान माइनस जीरो डिग्री है, बावजूद हमारे जाबांज जवानों ने बर्फ के बीच कई प्रकार के योगाभ्यास किए। स्कीइंग संस्थान के प्रिंसिपल गम्भीर सिंह चौहान के मार्ग निर्देशन में प्रशिक्षण अधिकारी नरेन्द्र रावत ने हिमवीरों को विभिन्न प्रकार के योगों का अभ्यास कराया।

शिविर में उन्होंने सभी जवानों को नियमित योग करने के लिए प्रेरित करते हुए कहा कि योग हमारे शरीर को फुर्तीला रखता है। कहा कि शरीर को स्वस्थ्य एवं चुस्थ-दुरूस्थ रखने के लिए हम सभी को योग से जुड़ना चाहिए। मालूम हो कि भारतीय पर्वतारोहण एवं स्कीइंग संस्थान हमेशा ही हिमवीरों के लिए योग कार्यक्रम का नियमित रूप से आयोजन करता है। इसमें हिमवीर भी बढ़ चढ़कर उत्साह के साथ भाग लेते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here