देहरादून। छात्र-छात्राओं में वैज्ञानिक प्रतिभा को राष्ट्रीय स्तर पर पहचान दिलाने के लिए केंद्र सरकार के विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी मंत्रालय की ओर से इंस्पायर अवॉर्ड प्रतियोगिता शुरू की गई है। इंस्पायर अवॉर्ड नामांकन में उत्तराखंड देश के शीर्ष 10 राज्यों में पांचवें पायदान पर है, जबकि देशभर के 50 जिलों में टिहरी गढ़वाल आठवें और चमोली जनपद 16 वें स्थान पर है। इसमें चंडीगढ़ पहले स्थान पर है।

अपर निदेशक गढ़वाल महावीर सिंह बिष्ट ने यह जानकारी देते हुए बताया कि विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी मंत्रालय नई दिल्ली की ओर से हर वर्ष इस प्रतियोगिता का आयोजन किया जाता है, जिसमें इस साल 16 सितंबर तक हुए नामांकन में उत्तराखंड देश के शीर्ष 10 राज्यों में से पांचवें स्थान पर है, जबकि चंडीगढ़ पहले और बिहार दूसरे नंबर पर है।

दूसरी ओर देश के शीर्ष 50 जिलों में उत्तराखंड के कई जिलों ने स्थान पाया है। टिहरी गढ़वाल के आठ ब्लाकों के 681 स्कूलों के 2808 बच्चों ने, रुद्रप्रयाग के तीन ब्लाक के 259 स्कूलों के 1296 बच्चों ने, देहरादून के 6 ब्लाक के 286 स्कूलों के 1386 बच्चों ने, नैनीताल के आठ ब्लाक के 235 स्कूलों के 1170 बच्चों ने इस प्रतियोगिता के लिए नाम दर्ज कराया है।

अपर शिक्षा निदेशक श्री बिष्ट ने बताया कि सभी स्कूलों के छठीं से 10वीं के बीच के (10 से 15 वर्ष के बीच के) स्कूलों के माध्यम से इस प्रतियोगिता के लिए नामांकन करा सकते हैं। बाल वैज्ञानिकों को प्रोत्साहित करने के लिए इस प्रतियोगिता में जिला स्तर पर मॉडल प्रदर्शनी लगाई जाती है। जहां से श्रेष्ठ मॉडल का चयन कर, इसे राज्य स्तर पर और राज्य स्तर से राष्ट्रीय स्तर पर भेजा जाता है। उन्होंने कहा कि पूर्व में कई छात्रों को इस प्रतियोगिता के तहत विदेश में जाने का भी अवसर मिला है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here