लोकपक्ष मीडिया ब्यूरो
नई दिल्ली। चुनाव आयोग ने लोकसभा चुनाव 2019 की मतगणना समाप्त होने के बाद अंतिम सीट के परिणाम की घोषणा कर दी। इस घोषणा के साथ राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन एनडीए की कुल 352 सीटों के साथ सत्ता में वापसी हो गई है। दरअसल, भाजपा नेता किरण रिजिजू की अरुणाचल पश्चिम सीट पर देर शाम को चुनाव आयोग ने परिणाम जारी किया गया। आयोग की ओर से चुनावों का यह आखिरी परिणाम घोषित किया गया।

वहीं दूसरी ओर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी समेत 16वीं लोकसभा के मंत्रिमंडल के सभी सदस्यों ने राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद को अपना इस्तीफा सौंप दिया है। राष्ट्रपति ने नई सरकार बनने तक प्रधानमंत्री मोदी को पद पर बने रहने के लिए कहा है। 

क्यों हो रही थी परिणाम घोषित होने में देरी

देश की 541 लोकसभा सीटों पर चुनाव के नतीजे शुक्रवार सुबह तक आ गए थे। लेकिन 16वीं लोकसभा में केंद्रीय मंत्री रहे किरण रिजिजू की सीट अरुणाचल पश्चिम पर फैसला देर शाम को आया। दरअसल यहां मतगणना की प्रक्रिया में काफी समय लगा, जिस वजह से नतीजा अटका हुआ था। हालांकि शुक्रवार दोपहर करीब 3 तीन बजे तक रिजिजू यहां से कांग्रेस के प्रत्याशी नवाब तूकी से एक लाख 56 हजार वोटों से आगे चल रहे थे, लेकिन मतगणना पूरी नहीं हो पाने से आयोग ने उन्हें जीत का प्रमाण पत्र नहीं दिया था।

आयोग की ओर से अरुणाचल पश्चिम सीट पर घोषित किए गए परिणाम के मुताबिक रिजिजू ने 174843 वोटों के अंतर से कांग्रेस प्रत्याशी को शिकस्त दी है। रिजिजू को कुल 225796 वोट मिले, कांग्रेस प्रत्याशी को 50953 वोट मिले।

रिजिजू ने 2014 में भी जीता था चुनाव

चीन म्यांमार और भूटान की सीमाओं से लगी अरुणाचल प्रदेश पश्चिम की सीट से रिजिजू ने 2014 में चुनाव जीतकर कांग्रेस के इस गढ़ को ढहा दिया था। इस सीट से वह दो बार सासंद चुने गए।  रिजिजू का नाम पूर्वोत्तर की राजनीति के बड़े चेहरों में शुमार किया जाता। वह मोदी सरकार में केंद्रीय राज्यमंत्री रहे। रिजिजू ने 2014 में कांग्रेस के प्रत्याशी तकाम संजय को 41 हजार वोटों से हराया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here