Home हमारा उत्तराखण्ड रूसा के तहत 200 करोड़ का प्रस्ताव केन्द्र को भेजेगा उच्च शिक्षा...

रूसा के तहत 200 करोड़ का प्रस्ताव केन्द्र को भेजेगा उच्च शिक्षा विभागः डा. धन सिंह

0
44

वर्तमान वित्तीय वर्ष में आधा दर्जन नए महाविद्यालय खोलने के दिये निर्देश

इसी सत्र से संचालित होगा व्यावसायिक महाविद्यालय पैठाणी

उच्च शिक्षा, सहकारिता, प्रोटोकाॅल, आपदा प्रबंधन एवं पुनर्वास राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) डाॅ. धन सिंह रावत ने उच्च शिक्षा विभाग के अधिकरियों को वित्तीय वर्ष 2021-22 में रूसा के अंतर्गत 200 करोड़ की धनराशि का प्रस्ताव भारत सरकार को भेजने के निर्देश दिये। डा. रावत ने बताया कि विभाग अभी तक रूसा के अंतर्गत विगत वर्ष के कार्यां की रूपये 150 करोड़ की उपयोगिता प्रमाण पत्र भारत सरकार को भेज चुका है। इस संबंध में उनकी केन्द्रीय शिक्षा मंत्री डा. रमेश पोखरियाल निशंक से भी वार्ता हो चुकी है। बैठक में नए स्वीकृत तीन महाविद्यालयों लमगड़ा (अल्मोड़ा), ब्रह्मखाल (उत्तरकाशी), भतरौंजखान (अल्मोड़ा) के भवनों के निर्माण हेतु शीघ्र धनराशि जारी करने के निर्देश विभागीय अधिकारियों को दिये।

उच्च शिक्षा मंत्री डा.रावत ने आज विधानसभा भवन स्थित कार्यालय कक्ष में उच्च शिक्षा विभाग की समीक्षा बैठक ली। बैठक में उन्होंने राजकीय महाविद्यालयों में शिक्षकों की तैनाती की वर्तमान स्थिति, महाविद्यालयों में 4जी कनेक्टिविटी, ई-ग्रन्थालयों की प्रगति, आॅन लाइन व आॅफ लाइन कक्षाओं की स्थिति, स्किल डेवलपमेंट पाठ्यक्रम, विभाग में मिनिस्टरियल कर्मचारियों की व्यवस्था, महाविद्यालयों में निर्माण कार्यों की प्रगति, एन.पी.सी.सी. के कार्यों की समीक्षा की। बैठक में विभागीय मंत्री ने कुमाऊं विश्वविद्यालय, श्री देव सुमन उत्तराखंड विश्वविद्यालय, दून विश्वविद्यालय, संस्कृत विश्वविद्यालय में रूसा के अंतर्गत संचालित कार्यों की समीक्षा भी की। इसके अलावा उन्होंने विभागीय अधिकारियों से राजकीय महाविद्यालय लम्बगांव में शिक्षा संकाय (बी0एड0) के भवन की स्थिति की जानकारी भी ली। रूसा के अंतर्गत निर्मित राजकीय महाविद्यालय सतपुली एवं गंगोलीहाट के निर्माणाधीन भवनों की समीक्षा कर डा. रावत ने विभागीय अधिकारियों को निर्माण कार्य जल्द पूरे करने के निर्देश दिये। व्यावसायिक महाविद्यालय पैठाणी को आगामी जुलाई माह से विधिवत संचालित किये जाने के निर्देश भी उच्च शिक्षा मंत्री ने विभागीय अधिकारियों को दिये। उन्होंने निदेशक शिक्षा को आगामी वित्तीय वर्ष में रामगढ़ (नैनीताल), देवाल (चमोली), मोरी (उत्तरकाशी), कल्जीखाल तथा कोट (पौड़ी) विकासखंडों में नए महाविद्यालय खोले जाने का प्रस्ताव शासन को शीघ्र भेजने के निर्देश दिये। इसी क्रम में टनकपुर, गैरसैंण, कपकोट, चैखुटिया, पुरोला, बड़कोट, लक्सर, मुनस्यारी तथा हल्दूचैड़ राजकीय महाविद्यालयों के उच्चीकरण के प्रस्ताव भी शासन को भेजने को कहा।

बैठक में प्रमुख सचिव उच्च शिक्षा आनंद बर्द्धन, निदेशक आईटीडीए अमित सिन्हा, सलाहकार रूसा प्रो. एम.एस.एम. रावत, प्रो. के.डी. पुरोहित, अपर सचिव उच्च शिक्षा एम.एम. सेमवाल, निदेशक उच्च शिक्षा डा. कुमकुम रौतेला, उप सचिव शिवस्वरूप त्रिपाठी, संयुक्त निदेशक डा. पी.के. पाठक, नोडल रूसा डा. ए.एस. उनियाल, सहायक निदेशक उच्च शिक्षा प्रो. रचना नौटियाल, डी.सी. गोस्वामी, नोडल एडूसेट डा. विनोद कुमार, एसो. प्रोफेसर (क्षेत्रीय कार्यालय) डा. दीपक कुमार पाण्डेय सहित कई विभागीय अधिकारी उपस्थित रहे।

No comments

Leave a reply

Please enter your comment!
Please enter your name here

error: Content is protected !!