देवप्रयाग। यहां निकटवर्ती रामपुर-श्यामपुर, कांडाधार सहित अन्य गांवों में पिछले कई दिनों से दहशत का पर्याय बना गुलदार आखिरकार पिंजरे में कैद हो गया। गुलदार के पिंजरे में कैद होने के बाद क्षेत्र के ग्रामीणों ने राहत की सांस ली है। वहीं, कीर्तिनगर तहसील के मलेथा में युवती को शिकार बनाने वाले गुलदार को अभी तक नहीं पकड़ा जा सका है। शिकारी जॉय हुकिल व वन विभाग की टीम द्वारा उसकी तलाश की जा रही है।

विदित हो कि पिछले करीब एक माह पूर्व यहां देवप्रयाग से करीब चार किमी दूर खटगीर के समीप एक बाइक सवार विशंबर सिंह व मदन सिंह पर गुलदार ने अचानक हमला कर दिया था। गुलदार ने कुछ दिन पूर्व दूध व्यवसायी दिगंबर सिंह को भी घायल किया था। इसके बाद ग्रामीणों की मांग पर गुलदार को पकड़ने के लिए वन विभाग ने बीते तीन दिन पूर्व यहां पिंजरा लगा दिया था।

गुरूवार सुबह आज गुलदार पिंजरे में कैद हो गया। गुलदार के पिंजड़े में कैद होने की खबर लगते ही क्षेत्र के ग्रामीण भारी संख्या में उसे देखने पहुंच गए। ग्रामीणों की भारी भीड़ को देखते हुए वनकर्मी गुलदार को तहसील स्थित वन विभाग चैकी ले आए। वन क्षेेत्राधिकारी माणिकनाथ रेंज देवेंद्र पुंडीर ने बताया कि यह गुलदार करीब ढाई साल का है और उसे चिड़ियापुर भेजा जा रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here