देहरादून। उत्तराखण्ड में आयुष्मान योजना के अंतर्गत गोल्डन कार्ड धारक मरीजों को अब जरूरत पड़ने पर प्लाज्मा व प्लेटलेट इलाज कैशलेस मिलेगा। प्रदेश में यदि किसी कार्ड धारक मरीज को प्लाज्मा की आवश्यकता पड़ती है तो उसे प्लाज्मा या प्लेटलेट के लिए कोई भी शुल्क नहीं देना पड़ेगा। इसके लिए आयुष्मान योजना में अलग से पैकेज शामिल होगा। इसके लिए राष्ट्रीय स्वास्थ्य प्राधिकरण को राज्य सरकार द्वारा प्लाज्मा व प्लेटलेट के निर्धारित किए रेट को पैकेज में शामिल करने का प्रस्ताव भेजा गया है।

उल्लेखनीय है कि कोरोना संक्रमित और डेंगू मरीजों के लिए प्लाज्मा व प्लेटलेट की आवश्यकता पड़ती है। प्रदेश सरकार ने पहली बार प्लाज्मा और प्लेटलेट के रेट निर्धारित किए हैं, जिसमें राज्य के मेडिकल कॉलेजों व अस्पतालों के जनरल वार्ड में भर्ती के लिए नौ हजार रुपये और निजी अस्पतालों में भर्ती मरीजों के लिए बारह हजार रुपये की दर निर्धारित की गई है।

विदित हो कि उत्तराखण्ड में गोल्ड कार्डधारक लाभार्थियों की संख्या 39 लाख के करीब है। सरकार की ओर से तय किए गए रेट को आयुष्मान योजना के पैकेज में शामिल करने के लिए राज्य की ओर से राष्ट्रीय स्वास्थ्य प्राधिकरण को प्रस्ताव भेजा गया है।

राज्य स्वास्थ्य प्राधिकरण के अध्यक्ष डीके कोटिया के मुताबिक सरकार ने प्लाज्मा व प्लेटलेट के रेट तय किए हैं। आयुष्मान योजना के कार्ड धारकों के लिए यह कैशलेस रहेगा। प्लाज्मा व प्लेटलेट का पैकेज अलग से बनाया जा रहा है। इसके लिए राष्ट्रीय स्वास्थ्य प्राधिकरण को प्रस्ताव भेजा गया है। पंजीकरण निजी अस्पतालों में भर्ती कार्ड धारक मरीज को प्लाज्मा की जरूरत पड़ती है तो उनका भुगतान राज्य स्वास्थ्य प्राधिकरण की ओर से जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here