29.4 C
Dehradun
Sunday, July 25, 2021
Homeहमारा उत्तराखण्डचमोलीसुमना में रेस्क्यू ऑपरेशन: लापता मजदूर का शव बरामद, आपदा में मृतकों...

सुमना में रेस्क्यू ऑपरेशन: लापता मजदूर का शव बरामद, आपदा में मृतकों की संख्या हुई 18

उत्तराखंड के चमोली में सुमना में आए हिमस्खलन में लापता एक और मजदूर का शव बरामद किया गया है। अब इस आपदा में मृतकों की कुल संख्या 18 हो गई है। ज्ञात हो कि सेना औैर आईटीबीपी की ओर से प्रतिदिन चार घंटे तक आपदा प्रभावित क्षेत्र में रेस्क्यू कर लापता मजदूर की खोजबीन की जा रही थी। सीमा सड़क संगठन की ओर से मलारी राजमार्ग को रिमखिम तक खोल दिया गया है। जिससे सेना के वाहनों की सीमा क्षेत्र में आवाजाही सुचारु कर दी गई है।

विदित हो कि बीती 23 अप्रैल को सुमना-2 इलाके में बर्फबारी के दौरान हिमस्खन हो गया था, जिससे बीआरओ के मजदूरों का कैंप बर्फ में दफन हो गया था। हादसे में 17 मजदूरों की मौत हो गई थी, जबकि एक मजदूर लापता चल रहा था। जिसका शव बीती मंगलवार को आपदा वाली जगह से बरामद कर लिया गया है।

बरामद किए शवों को जिला प्रशासन और बीआरओ की ओर से झारखंड सरकार को सौंप दिया गया है। हादसे में सेना की ओर से 348 मजदूरों को सुरक्षित बचा लिया गया था। इन मजदूरों को अब क्षेत्र में फिर से सड़क निर्माण कार्य में लगा दिया गया है।

——————————————-

भारत-तिब्बत (चीन) सीमा से लगे सुमना-2 में सीमा सड़क संगठन के मजदूरों के शिविर (टिन शेड) के ऊपर हिमस्खलन होने से हुए सुमना हादसे में मृतकों की संख्या बढ़कर 17 हो गई है। यहाँ पर सेना द्वारा रेस्क्यू ऑपरेशन जारी है। इस घटना में अभी भी एक मजदूर लापता है।

उधर, मलारी राजमार्ग को सुमना तक खोल दिया गया है। बीआरओ और जिला प्रशासन चमोली द्वारा बरामद किए शवों को झारखंड सरकार के सुपुर्द किया गया है। घटना में बरामद सभी शवों की शिनाख्त की जा चुकी है।

जिलाधिकारी चमोली स्वाति एस भदौरिया ने बताया कि आपदा में मृतक बीआरओ के यह सभी मजदूर झारखंड के रहने वाले थे। इस हादसे में बचाए गए 384 मजदूरों को अभी भी सेना कैंप में रखा गया है, जहां पर उनके लिए खाने-पीने की व्यवस्था की गई है। बताया कि मलारी से सुमना तक सड़क मार्ग खुलने के बाद वाहनों से मजदूरों को जोशीमठ लाया जाएगा।

——————————

घटना के सभी मृतकों के शव सेना विमान से जोशीमठ पहुंचाने के बाद पोस्टमार्टम की कार्यवाही की जा रही है। इस घटना में लापता 6 लोगों का अभी तक कोई पता नहीं चल पाया है। बताया जा रहा है कि मौसम के कारण प्रभावित क्षेत्र में सेना के हेलीकॉप्टर को लेंडिंग में दिक्कतें आ रही हैं। मलारी-सुमना सड़क मार्ग को खोलने का कार्य बीआरओ के द्वारा किया जा रहा है।

विदित हो कि शुक्रवार को रिहाइशी टिन शेड के ऊपर दो बार हुए इस भारी हिमस्खलन में 7 मजदूर घायल हो गए, 384 मजदूर सुरक्षित बच गए। घायलों को जोशीमठ सैन्य अस्पताल में भर्ती कराया गया है। सीमांत विकासखण्ड जोशीमठ से करीब 95 किलोमीटर की दूरी पर नीति घाटी में बीआरओ सड़क निर्माण और डामरीकरण का कार्य तेजी से करा रहा है, जिसके लिए वहां 409 मजदूर टिनशेड में रह रहे थे।

नीति घाटी में पिछले तीन दिनों से लगातार बर्फबारी हो रही थी, जिससे घाटी में कई फीट बर्फ जमी है। शुक्रवार शाम को बर्फबारी के बीच अचानक मजदूरों के टिनशेड के ऊपर हिमस्खलन हो गया। जिलाधिकारी चमोली स्वाति एस भदोरिया एवं पुलिस कप्तान यशवंत सिंह चौहान जोशीमठ में मौजूद रहकर आपदा प्रभावित क्षेत्र में राहत बचाव के कार्यों की निगरानी कर रहे हैं।

—————————————————

भारत-चीन (तिब्बत) सीमा क्षेत्र नीति घाटी के सुमना में ग्लेशियर टूटने की घटना में अब तक 384 लोगों को बचाया गया है। 10 मजदूरों की मौत हो गई और 7 लोग घायल हैं। अभी भी 8 मजदूर लापता बताए जा रहे हैं। घायलों को इलाज के लिए जोशीमठ में सेना अस्पताल में भर्ती कराया गया है। जबकि 384 मजदूर सुरक्षित हैं। एसडीआरएफ, एनडीआरएफ, आईटीबीपी के जवान और जिला प्रशासन की टीम भी युद्ध स्तर पर राहत एवं बचाव कार्य में जुटी हुई हैं।

उत्तराखंड के मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने आज शनिवार की सुबह आपदा प्रभावित क्षेत्र का जायजा लेने पहुंचे। मुख्यमंत्री ने आपदाग्रस्त क्षेत्र का हवाई निरीक्षण करने के बाद बताया गया कि आपदाग्रस्त क्षेत्र में जगह-जगह भारी मात्रा में बर्फ है। बीआरओ सड़क खोलने में जुटा है। मुख्यमंत्री श्री रावत ने सेना के अधिकारियों के साथ बैठक की।

बताया कि नीति घाटी में मलारी बॉर्डर स्थित सुमना गाँव के निकट ग्लेशियर टूटने पर घटनास्थल के हवाई निरीक्षण के बाद भी वहां चल रहे रेस्क्यू कार्य की मैं लगातार मॉनिटरिंग कर रहा हूं। मुझे बताया गया कि सुमना में जहां ग्लेशियर टूटा, वहां बीआरओ के लगभग 400 लेबर काम कर रहे थे, जिनमें से कुल 391 लोग सेना व आईटीबीपी के कैम्पों तक पहुँच गए हैं और पूरी तरह से सुरक्षित हैं। 6 मजदूरों के मारे जाने की जानकारी मिली है जबकि 4 लोग घायल हैं।

मौके पर सेना और आईटीबीपी की टीमें तत्परता से राहत बचाव कार्य में जुटी हैं। एसडीआरएफ और एनडीआरएफ की कुछ टीमें भी आगे बढ़ रही हैं। जिला प्रशासन भी शुक्रवार से ही पूरी मुस्तैदी से राहत-बचाव में जुटा है। गाजियाबाद में भी एनडीआरएफ की टीमें अलर्ट मोड पर हैं।

सीएम तीरथ सिंह रावत ने कहा कि नीति घाटी के सुमना में ग्लेशियर टूटने की घटना का गृह मंत्री अमित शाह ने भी संज्ञान लिया है और मदद का आश्वासन दिया है तथा साथ ही आईटीबीपी को सतर्क रहने का आदेश दिया है।

सेना के अधिकारियों से बातचीत के बाद मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने कहा कि नीति के पास आई इस आपदा में शुक्रवार रात से ही सेना राहत बचाव कार्य में लगी है। एसडीआरएफ, एनडीआरएफ, आईटीबीपी के जवान और जिला प्रशासन की टीम भी युद्ध स्तर पर जुटी हुई है।

सेना से मिली जानकारी के मुताबिक अब तक 391 लोगों वहां बचाया गया है। छह लोगों के शव बरामद किए गए हैं और चार लोग घायल हैं। बताया जा रहा है कि अभी तक वहां पर काम में जुटे वास्तविक मजदूरों की संख्या का पता नहीं चल पाया है। इस घटना में हताहत होने वालों की संख्या बढ़ सकती है। मामले में सेना एवं बीआरओ के अधिकारी जुटे हुए हैं।

———————————

उत्तराखंड के चमोली जनपद से लगे भारत-चीन (तिब्बत) सीमा क्षेत्र सुमना के पास ग्लेशियर टूटने की खबर मिली है। बताया जा रहा है कि सुमना में सीमा सड़क संगठन के शिविर के पास ग्लेशियर टूटकर मलारी-सुमना रोड़ पर आ गया है।

यहां बीते तीन दिनों से नीती घाटी में अत्यधिक वर्षा एवं बर्फबारी हो रही है। बताया जा रहा है कि मलारी से आगे जोशीमठ-मलारी राजमार्ग भी बर्फ से पूरी तरह से ढक गया है, जिससे सेना और आईटीबीपी के वाहनों की आवाजाही भी बाधित हो गई है।

बताया जा रहा है कि नीती घाटी क्षेत्र में पिछले तीन दिनों से भारी वर्षा एवं बर्फबारी हो रही है। यहां बीआरओ के मजदूर सड़क निर्माण के कार्य में लगे हुए थे। बर्फबारी होने से सीमा क्षेत्र में वायरलेस टेस भी काम नहीं कर रहे हैं। अभी यह पता नहीं चल पाया है कि मजदूरों को इससे कोई नुकसान पहुंचा है या नहीं। इस बारे में बीआरओ के अधिकारी जानकारी जुटाने के प्रयास में लगे हुए हैं।

इधर, चमोली पुलिस प्रशासन ने ऐसी घटना से इंकार किया है। बताया गया है कि प्रशासन के पास अभी ऐसी कोई जानकारी नहीं मिली है।

RELATED ARTICLES

Leave a reply

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
- Advertisment -
- Advertisment -
- Advertisment -
- Advertisment -
- Advertisment -

Most Popular

- Advertisment -

Recent Comments

error: Content is protected !!