हरिद्वार। यहां गंगा का जल स्तर खतरे के निशान के पास पहुंच गया है। गंगा में अचानक से पानी बढ़ने से गंगा से लगे हुए क्षेत्रों के लोगों में दहशत का माहौल बना हुआ है। बताया गया है कि श्रीनगर जल विद्युत परियोजना से पानी छोड़ने से हरिद्वार में गंगा का जलस्तर खतरे के निशान 294 मीटर के पास पहुंचा है। स्थानीय प्रशासन तटवर्तीय क्षेत्रों का निरीक्षण करने के बाद लोगों को सचेत किया जा रहा है।

विदित हो कि बीते तीन दिन से पहाड़ी क्षेत्रों में लगातार मूसलाधार बारिश हो रही है, जिसके चलते नदियां उफान पर हैं। मंगलवार को श्रीनगर जल विद्युत परियोजना से पानी छोड़ दिया गया, जिससे श्रीगनर से छोड़ा गया पानी हरिद्वार में दोपहर 12 बजे तक पहुंचने लगा। इससे भीमगोड़ा बैराज पर जलस्तर 293 मीटर दर्ज किया गया। इसके बाद देखते ही देखते जलस्तर में वृद्धि होती चली गई।

इसके बाद तीन बजे तक गंगा का जल स्तर 293.70 मीटर तक पहुंच गया, जो खतरे के निशान से मात्र 30 सेंटीमीटर नीचे था। पानी बढ़ने की सूचना पर सिंचाई विभाग के अधिकारियों के साथ अन्य अधिकारी बैराज के साथ नहरों के निरीक्षण के लिए रवाना हुए। इधर, उपजिलाधिकारी गोपाल सिंह चैहान, तहसीलदार आशीष घिल्डियाल ने तटवर्तीय क्षेत्रों का निरीक्षण करते हुए लोगों को सचेत किया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here