गोपेश्वर। जनपद के नारायणबगड़ क्षेत्र के भ्याड़ी गांव के मजेटी तोक में बीती रात्रि को गुलदार चार वर्षीय एक बच्चे को घर से उठा ले गया। इसके बाद ग्रामीणों के द्वारा पूरी रात्रि बच्चे की खोजबीन की, लेकिन उसका कहीं कोई भी सुराग हाथ नहीं लगा। घटना के बाद से क्षेत्र में दहशत का माहौल बना हुआ है।

आज सुबह मजेटी से करीब 500 मीटर दूर जंगल में ग्रामीणों को बच्चे का सिर मिला। शरीर के बाकी हिस्से को गुलदार खा गया। रात्रि में ही ग्रामीण काफी संख्या में एकत्रित हो गए और बच्चे की काफी खोजबीन की।

अपडेट कोरोना-  देहरादून में कोरोना बम विस्फोट, मिले 94 केस, संख्या पहुंची 602

क्षेत्र के नायब तहसीलदार सुरेंद्र सिंह ने घटना के बारे में जानकारी देते हुए बताया कि बीती रात्रि को मजेटी तोक में नेपाली मूल के प्रेम बहादुर का चार साल का पुत्र रमेश घर के बाहर आया, वहां पहले से ही गुलदार घात लगाए बैठा था और उसने बच्चे पर हमला कर उसे लेकर जंगल निकल गया। शव को पोस्टमार्टम के लिए यहां जिला मुख्यालय भेजा गया है।

क्षेत्र के रेंजर बीएस परमार ने बताया कि मुआवजे के लिए कार्यवाही की जा रही है। गुलदार की इस घटना को देखते हुए प्रभावित क्षेत्र में पिंजरा लगाने की व्यवस्था की जा रही है। ग्रामीणों के मुताबिक इस क्षेत्र में पिछले काफी समय से गुलदार का आतंक बना हुआ है। ग्रामीणों ने वन विभाग से गुलदार से जल्द निजात दिलाने की मांग की है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here