6 C
New York
Monday, April 12, 2021
spot_img
Homeहमारा उत्तराखण्डकोरोना की चपेट में आए पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत दिल्ली एम्स रेफर

कोरोना की चपेट में आए पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत दिल्ली एम्स रेफर

कोरोना संक्रमित उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत की तबीयत और बिगड़ गई है। पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव हरीश रावत पत्नी और बेटी समेत बुधवार को कोरोना संक्रमित पाए गए थे।

बताया गया कि हरीश रावत का बुखार कम नहीं हो रहा है। इस वजह से उन्हें दिल्ली एम्स रेफर किया गया है। हरीश रावत को एयरलिफ्ट कर दिल्ली एम्स ले जाया जा रहा है। इसकी पुष्टि उनके पूर्व सलाहाकार सुरेंद्र अग्रवाल ने की है।

हरीश रावत को गुरुवार की सुबह कुछ जांचों के लिए दून अस्पताल ले जाया गया था। जहां चिकित्सकों ने उनकी हालत में सुधार न देखते हुए उन्हें दिल्ली एम्स रेफर कर दिया।

फिलहाल हरीश रावत को राजकीय दून मेडिकल अस्पताल के वीआईपी वार्ड में भर्ती कराया गया है। उनके सिटी स्कैन और अन्य जांच की गई है। उनके फेफड़ों में इन्फेक्शन पाया गया है। राजकीय दून मेडिकल कॉलेज के प्राचार्य डा. आशुतोष सयाना ने बताया कि पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत को एयर एंबुलेंस से दिल्ली एम्स भेजे जाने की तैयारी चल रही है।

बता दें कि बुधवार को उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव हरीश रावत पत्नी और बेटी समेत कोरोना संक्रमित पाए गए थे। साथ ही उनके स्टाफ के दो लोग भी संक्रमित मिले। खुद हरीश रावत ने सोशल मीडिया के जरिये इसकी जानकारी दी थी और अपने संपर्क में आने वालों को कोविड टेस्ट कराने की सलाह दी थी।

उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव हरीश रावत के कोरोना संक्रमित होने से कई और लोगों के माथे पर चिंता की लकीरें पड़ गई हैं। मंगलवार को सुभाष रोड पर आयोजित होली समारोह में वे शामिल हुए थे। इस समारोह में कांग्रेस के कई पदाधिकारियों के साथ ही बड़ी संख्या में लोग शामिल हुए थे।

समारोह में हरीश रावत ने बकाया ढपली पर गाना गाया था और होलियारों के साथ पारंपरिक रूप से होली मनाई थी। मंगलवार को हरीश रावत डीएवी कॉलेज में आयोजित होली मिलन समारोह में भी शामिल हुए थे। पूर्व मुख्यमंत्री के मुख्य प्रवक्ता सुरेंद्र अग्रवाल ने बताया कि अभी तक किसी और के स्वास्थ्य खराब होने की जानकारी सामने नहीं आई है।

पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत दो दिन पहले ही पंजाब के दौरे से वापस लौटे थे। वे पंजाब के प्रभारी भी हैं और इस वजह से उनका पंजाब आना जाना लगा रहता है। पंजाब से लौटने के बाद वे कोटद्वार, जयहरीखाल आदि में आयोजित कांग्रेस के सम्मेलनों में भी शामिल हुए थे।

———————————————–

उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत भी कोरोना संक्रमण की चपेट में आ गए हैं। उनके परिवार के चार सदस्य भी संक्रमित हो गए हैं। यह जानकारी उन्होंनें खुद अपनी ट्वीटर एकाउंट पर शेयर की है। उन्होंने लिखा कि मैंने अपना, अपनी पत्नी, बेटी, सुमित रावत और पूरन रावत का टेस्ट करवाया था। हम सभी लोग संक्रमित मिले हैं। बता दें कि हाल ही में उन्होंने कोरोना की पहली डोज लगवाई थी।

अपने ट्वीटर एकाउंट पर श्री रावत ने लिखा है कि मैंने टेस्ट करवा लिया। टेस्ट की रिपोर्ट आने पर मैं #पॉजिटिव पाया गया हूँ और मेरे परिवार के एक साथ 4 सदस्य भी पॉजिटिव पाये गये हैं। आज दोपहर तक जितने भी लोग मेरे संपर्क में आये हैं वो कृपया अपनी जांच करवा लें, क्योंकि ये सावधानी आवश्यक हैं।

बता दें कि पूर्व सीएम रावत ने मंगलवार को देहरादून में होली मिलन समारोह कार्यक्रम में शिरकत की थी। उनके संक्रमित होने के बाद अब कार्यक्रम में शामिल होने वाले लोगों को भी संक्रमण का खतरा है। उन्होंने संपर्क में आए लोगों से जांच कराने की अपील की है।

बीते 22 मार्च को सीएम तीरथ सिंह रावत भी कोरोना संक्रमित हो गए थे। वह आइसोलेशन में रह रहे हैं। सीएम तीरथ ने सोमवार को राजकीय दून मेडिकल कॉलेज अस्पताल पहुंचकर चिकित्सीय जांच कराई थी। सीटी स्कैन में मुख्यमंत्री के फेफड़ों में मामूली इंफेक्शन मिला था।

बता दें कि मुख्यमंत्री के फिजिशियन डॉ. एनएस बिष्ट, दून अस्पताल के कोरोना के नोडल अफसर एवं वरिष्ठ छाती रोग विशेषज्ञ डॉ. अनुराग अग्रवाल और मेडिसिन विभाग के विभागाध्यक्ष डॉ. नारायणजीत सिंह की देखरेख में उनकी विभिन्न चिकित्सीय जांच की गई थी। कॉलेज के प्राचार्य डॉ. आशुतोष सयाना ने बताया कि मुख्यमंत्री का स्वास्थ्य सामान्य है।

डॉक्टरों ने जांच के बाद जरूरी दवाएं देकर मुख्यमंत्री को फिलहाल एकांतवास में रहने की सलाह दी है। उधर, मुख्यमंत्री के संपर्क में आए नेताओं, अधिकारियों, मुख्यमंत्री के स्टाफ और अन्य परिचितों के सैंपल लेकर कोरोना जांच के लिए भेजे गए हैं।

पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत के कोरोना संक्रमित होने की खबर मिलते ही कोटद्वार, दुगड्डा और जयहरीखाल के कांग्रेस कार्यकर्ताओं और पत्रकारों में कोविड-19 की दहशत है। पूर्व सीएम बीते रविवार और सोमवार को दो दिन तक कोटद्वार से लेकर जयहरीखाल तक कई कार्यक्रमों में शामिल रहे।

इस दौरान पूर्व मंत्री सुरेंद्र सिंह नेगी, मेयर हेमलता नेगी, पूर्व विधायक शैलेंद्र सिंह रावत समेत सैकड़ों कार्यकर्ता और पदाधिकारियों के साथ पत्रकार भी उनके सीधे संपर्क में रहे। बुधवार शाम को जैसे ही पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत समेत चार लोगों के कोरोना पॉजिटिव होने की खबर कोटद्वार पहुंचते ही कांग्रेस के आला नेताओं से लेकर कार्यकर्ता और पदाधिकारी चिंतित हो गए। डॉक्टरों ने सभी को सेल्फ आइसोलेशन में रहने और लक्षण पाए जाने पर कोविड टेस्ट कराने की सलाह दी।

कोटद्वार के कार्यक्रम में कांग्रेस जिलाध्यक्ष डॉ. चंद्रमोहन खर्कवाल, महानगर अध्यक्ष संजय मित्तल, महिला कांग्रेस की जिलाध्यक्ष कृष्णा बहुगुणा, पार्षद गीता नेेगी समेत सैकड़ों कार्यकर्ता मौजूद रहे थे। सोमवार सुबह हुई पत्रकार वार्ता में शहर के लगभग सभी पत्रकार मौजूद थे। इसी दिन उन्होंने जयहरीखाल में एक होली मिलन समारोह में प्रतिभाग किया था और दुगड्डा में भी एक जनसभा की।

सीएमओ डॉ. मनोज शर्मा ने पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत के कोरोना संक्रमित होने की पुष्टि की है। कहा कि उनके सीधे संपर्क में आने वाले लोगों में पांच दिन बाद से कोविड-19 के लक्षण आने शुरू होंगे।

RELATED ARTICLES

Leave a reply

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments

error: Content is protected !!