प्रदेश के कृषि एवं कृषक कल्याण मंत्री सुबोध उनियाल ने विधान सभा स्थित सभागार कक्ष में भारत सरकार की किसान रेल संचालन योजना के सम्बन्ध में बैठक की। किसानों की आय दोगुनी करने के लिए किसान रेल का संचालन महत्वपूर्ण कदम है। इस सम्बन्ध में बैठक में रेलवे विभाग एवं उद्यान विभाग के अधिकारियों एवं किसानों, व्यापारियों, तथा मण्डी समिति के सदस्यों को समीक्षा के दौरान महत्वपूर्ण निर्देश दिये गये।

मंत्री सुबोध उनियाल ने बैठक में कहा कि किसानों की आय दोगुना करने के लिए किसानों को अधिक से अधिक सुविधांए प्रदान करते हुए बेहतर मार्केटिंग आधार संरचना तैयार किया जाय। विभिन्न राज्यों में लगने वाली किसान मण्डी में फल और सब्जी के परिवहन लागत में 50 प्रतिशत सब्सीडी केन्द्रिय वाणिज्य मंत्रालय द्वारा रेलवे को दी जा रही है। यह राज्यों की मांग और आवश्यकतानुसार की गई है।

इसके माध्यम से किसानों के उत्पाद जहाॅ से किसान उत्पाद को पैदा करता है, वहाॅ से देश के किसी कोने में रेल के माध्यम से उत्पाद भेज सकता है तथा अच्छी कीमत प्राप्त कर सकता है। इसमे रेल के प्रत्येक स्टाप पर, जहाॅ जिस स्टेशन पर आवश्यकता होगी रेल को रोका जा सकेगा।

उत्तराखण्ड में उद्यान के क्षेत्र में सब्जी, फल, फूल का बडे स्तर पर उत्पादन किया जाता है। इसलिए इस नीति से उत्तराखण्ड के किसान को अप्रत्याशित लाभ पहुचेगा। इस सम्बन्ध में उत्तराखण्ड के मण्डी सचिवों को इसके मांग के सम्बन्ध में सर्वे करने के निर्देश दिये गये है।

इस सर्वे से इस क्षेत्र में रेल संचालन की समय अवधि के अन्तराल के निर्धारण में मदद मिलेगी। क्षमता के अनुसार उत्पाद न मिलने की दशा में इसे लिंक के तौर पर संचालन के विकल्प पर सहमति कायम हुई। इस अवसर पर निर्भय सिंह, एडिसनल डीआरएम मुरादाबाद तथा उद्यान विभाग सहित अन्य विभागीय अधिकारी मौजूद थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here