EPFO(Employee Provident Fund Organisation) यानी कर्मचारी भविष्य निधि संगठन और ESIC यानी कर्मचारी राज्य बीमा निगम ने हाल ही में कोरोना महामारी के चलते देश के सभी सदस्यों और उनसे जुड़े हुए कर्मचारियों के लिए कुछ महत्वपूर्ण सूचनाएं जारी करी हैं।

महत्वपूर्ण जानकारी: COVID19 महामारी के प्रावधान के अंतर्गत किए गए पीएफ राशि निकासी क्लेम के लिए ईपीएफ जमा क्रेडिट के लिए तुरंत बैंक खाता संख्या एवं आईएफएससी कोड को अपडेट करें।

Employees Provident Fund क्या है: आवश्यक सूचनाएं

EPFO एवं ESIC ने प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना(PMGKY), PROVIDENT FUND(PF), UAN यूनिवर्सल एकाउंट नम्बर, बैंक खाता आदि में कुछ गलतियों के सुधार के लिए सूचनाएं जारी की है। EPFO एवं ESIC ने बताया कि कर्मचारी एवं सदस्यों को जो असुविधा हो रही थी उसको दूर करके उनका सही प्रकार से क्रियान्वयन किया जा सके।

EPFO (कर्मचारी भविष्य निधि संगठन) एवं ईएसआईसी (कर्मचारी राज्य बीमा निगम)ने अपने कर्मचारियों,सदस्यों की परेशानी को देखते हुए कुछ अहम फैसले लिए है जिससे Covid-19 महामारी को देखते हुए किसी भी कर्मचारी एवं सदस्य को कोई भी असुविधा ना हो। EPFO एवं ESIC के इन अहम फैसलों से लाखों लोगों को सीधे तौर पर लाभ प्राप्त होगा।

Employees Provident Fund क्यों है: आवश्यक सूचनाएं

  • PMGKY (प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना)- भारत सरकार की एक योजना है जो भ्रष्ट लोगों के द्वारा बैंकों में जमा कराए जाने वाले काले धन को सरकार गरीबों के विकास में लगाएगी।
  • UAN- भारत सरकार के तहत रोजगार और श्रम मंत्रालय द्वारा जारी एक खाता नंबर है जो 12 अंक का होता है एवं EPFO के प्रत्येक सदस्य को प्रदान किया जाता है।

Employees Provident Fund कैसे ले फायदा

ESIC ने प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के तहत लाभ प्राप्त करने वालों के लिए सूचनाएं प्रदान की है। यदि आपके पास चेक लीफ ना हो तो आप पासबुक की स्कैन कॉपी को अपलोड कर सकते हैं लेकिन उसमें खाता धारक का नाम, खाता संख्या एवं IFSC CODE साफ साफ दिखाई देना चाहिए।

यदि UAN Number में बैंक खाते की जानकारी गलत है तो आप बैंक हैंड इंडेक्स की मदद से बैंक खाता विवरण को अपडेट कर सकते हैं।

ESIC ने कर्मचारियों को अटल बिमा कल्याण योजना में भी छूट प्रदान की है। इस योजना के तहत बीमा ग्रस्त व्यक्ति के बेरोजगार होने की स्थिति में एवं रोजगार तलाश के दौरान नगद राहत राशि का भुगतान उसके बैंक खाते में किया जाएगा। लेकिन बेरोजगार होने के पूर्व 2 वर्षों की अंशदान अवधि में न्यूनतम 78 दिनों का अंशदान किया गया हो, यह आवश्यक है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here