प्रदेश के विद्यालयी शिक्षा, प्रौढ़ शिक्षा, संस्कृत शिक्षा, खेल, युवा कल्याण एवं पंचायती राज मंत्री अरविन्द पाण्डेय ने आज मंगलवार को केन्द्रीय स्टूडियो, नवोदय विद्यालय तपोवन देहरादून से वर्चुअल क्लासरूम के माध्यम से प्रदेश के विभिन्न क्षेत्रों के 500 वर्चुअल क्लासरूम युक्त विद्यालयों के प्रधानाचार्यों, अध्यापकों व कक्षा 10वीं व 12वीं के अध्ययनरत विद्यार्थियों से सीधे संवाद किया।

इस सीधे संवाद के दौरान मंत्री श्री पाण्डेय ने छात्रों, अध्यापकों की विद्यालयों में कोविड-19 महामारी से सुरक्षा एवं स्वास्थ्य से सम्बंधित समस्याओं को सुना। इस विषय पर मंत्री ने बताया कि सभी की सुरक्षा के दृष्टिगत सरकार द्वारा आवश्यक व्यवस्थाएं की जा चुकी हैं।

इसी क्रम में उन्होंने विद्यालयों के समय, फर्नीचर, शुद्ध पेयजल की व्यवस्था, ऑनलाइन पढ़ाई, पाठ्यक्रम, पठन-पाठन तथा सम्बंधित महत्वपूर्ण विषयों पर वार्ता की। साथ ही अटल उत्कृष्ट विद्यालयों की समीक्षा की।

उक्त सीधे संवाद के दौरान माननीय मंत्री श्री पाण्डेय ने रवाईखाल, गौचर जनपद चमोली, चंपावत, सेलाकुई, हर्रावाला जनपद देहरादून, बेतालघाट, रामनगर जनपद नैनीताल, दिनेशपुर, गदरपुर जनपद उधम सिंह नगर, काशीपुर, जनपद हरिद्वार, बागेश्वर, लैंसडाउन जनपद पौड़ी, डीडीहाट जनपद पिथौरागढ़, अगस्त्यमुनि जनपद रुद्रप्रयाग, चंबा जनपद टिहरी तथा उत्तरकाशी के विद्यालयों से संपर्क के दौरान संबंधित समस्याओं को सुना तथा तत्काल निस्तारण हेतु संबंधित अधिकारियों को आदेशित किया।

शिक्षा मंत्री श्री पाण्डेय ने कोविड-19 महामारी के परिप्रेक्ष्य में प्रदेश में प्रथम चरण में विद्यालय खुलने पर समस्त छात्र-छात्राओं से आग्रह किया कि वह भयमुक्त होकर विद्यालय आएं। सुरक्षा के दृष्टिगत सरकार द्वारा जारी दिशा-निर्देशों का अनुपालन करें। कहा कि प्रदेश में शिक्षा के उन्नयन हेतु राज्य सरकार संकल्पबद्ध है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here