देहरादून। केंद्रीय गृह मंत्रालय के आदेश के बाद लॉकडाउन के कारण अन्य राज्यों में फंसे उत्तराखण्ड के नागरिकों की शीघ्र घर वापसी का रास्ता साफ हो गया है। इस संबंध में प्रदेश सरकार को केन्द्र से आदेश मिल गया है। उक्त आदेश के क्रम में अब राज्य सरकार अनुपालन सुनिश्चित करेगी। सरकार के मुताबिक योजनाबद्ध ढंग से बाहरी प्रदेशों में फंसे यहां के नागरिकों को वापस घर लाने की व्यवस्था की जाएगी।

सूबे के मुख्य सचिव उत्पल कुमार सिंह ने बताया कि केन्द्र सरकार ने अन्य प्रदेशों में फंसे लोगों की घर वापसी की जिम्मेदारी संबंधित राज्यों को प्रदान कर दी है। अब राज्य ही यह तय करेंगे कि लॉकडाउन में फंसे लोगों को कैसे वापस घर लाया जाए। आपस में तय करेंगे कि उनके यहां फंसे नागरिकों को कैसे वापस लाया जा सकता है और इसके लिए किस प्रकार व्यवस्था बनाई जाए। सबसे पहले प्रदेश के बाहरी राज्यों में फंसे नागरिकों की सूचना का संकलन किया जाएगा। इसके बाद संबंधित राज्यों से समन्वय स्थापित कर व्यवस्था तैयार की जाएगी। यहां भी जिन बाहरी प्रदेशों के नागरिक फंसे हैं उनकी जानकारी भी उन राज्यों के साथ साझा की जाएगी। बताया कि राज्य सरकार योजनाबद्ध ढंग से हर प्रदेश के साथ समन्वय बनाकर फंसे लोगों को वापस लाने और भेजने का काम करेगी। यहां पहुंचने पर चिकित्सकीय परीक्षण के उपरांत इस संबंध में जारी गाइडलाइन का पालन कराया जाएगा।

उत्तराखण्ड में घर वापसी के लिए नीचे दिए लिंक पर करें पंजीकरण

http://dsclservices.in/uttarakhand-migrant-registration.php

केन्द्रीय गृह मंत्रालय द्वारा जारी गाईडलाइन के लिए पढ़े

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here