हरिद्वार। जिले के जिला शिक्षा अधिकारी (बेसिक शिक्षा) ब्रह्मपाल सिंह सैनी को शासन ने उन पर लगे गंभीर आरोपों के चलते गुरूवार को आज निलंबित कर दिया। सूबे के शिक्षा सचिव आर मीनाक्षी सुंदरम ने निलंबन का आदेश जारी करते हुए उन्हें इस दौरान निदेशक माध्यमिक शिक्षा के कार्यालय में संबद्ध कर दिया।

अपने गृह जनपद में तैनात जिला शिक्षा अधिकारी (बेसिक शिक्षा) ब्रह्मपाल सिंह सैनी पर कई गंभीर आरोप हैं। यहां तैनाती के दौरान उन पर कई तरह की अनियमितताओं के आरोप हैं। उन पर लगे प्रमुख आरोपों में कुछ स्कूलों को गलत मान्यता देने, एक शिक्षक को गलत सत्रांत लाभ देना शामिल है। शासन की ओर से बुधवार को उन्हें आरोप पत्र दिए जाने के बाद आज गुरूवार को निलंबित कर दिया गया।

शिक्षा सचिव आर मीनाक्षी सुंदरम की ओर से जारी आदेश में कहा गया है कि हाईकोर्ट नैनीताल में दाखिल जनहित याचिका पदम कुमार बनाम उत्तराखंड राज्य व अन्य में 30 जुलाई 2020 को पारित आदेश के क्रम में जिला शिक्षा अधिकारी को पांच अगस्त 2020 को आरोप पत्र दिया गया था। आरोप गंभीर प्रकृति के हैं, जिसे देखते हुए उन्हें निलंबित कर दिया गया है। जिला शिक्षा अधिकारी (बेसिक शिक्षा) ब्रह्मपाल सिंह सैनी पर पहले भी कई तरह के गंभीर आरोप लगते रहे हैं। यही वजह है कि पूर्व में उनका जिले से बाहर तबादला किया गया था, लेकिन बाद में उन्हें फिर से हरिद्वार जिले में तैनाती मिल गई थी। उन्हें दोबारा जिले में मिली तैनाती को लेकर भी सवाल खड़े हो रहे हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here